Connect with us

नेशनल

इशरत मुठभेड़ मामले में वंजारा को मिली जमानत

Published

on

ishrat-jahan, vanjara, pp-pandey

अहमदाबाद। अहमदाबाद कोर्ट ने पूर्व आईपीएस ऑफिसर जीडी वंजारा को सशर्त जमानत दी है। वंजारा इशरत जहां मुठभेड़ मामले में जेल में बंद थे। हालांकि कोर्ट ने शर्त लगाई है कि वंजारा गुजरात में प्रवेश नहीं करेंगे। कोर्ट ने एडिशनल डीजीपी पीपी पांडे को भी इस केस में जमानत पर रिहा कर दिया है।
वंजारा के वकील ने कहा कि कोर्ट ने पाया कि वंजारा की तरफ से गवाहों को कोई खतरा नहीं है। मुंबई की कोर्ट से भी आदेश हैं कि वंजारा मुंबई नहीं छोड़ सकते। इसलिए वंजारा को शनिवार को कोर्ट में पेश होना होगा। बाकी समय वह मुंबई में ही रहेंगे।
उल्लेखनीय है कि वंजारा को 2007 में गुजरात सीआईडी ने गिरफ़्तार किया था और उसके बाद से वह जेल में थे। पिछले साल सुप्रीम कोर्ट ने जब सोहराबुद्दीन केस को ट्रायल के लिए गुजरात से महाराष्ट्र स्थानांतरित किया, तब से वंजारा मुंबई जेल में हैं। इसी दौरान वंजारा ने अपने पद से भी इस्तीफा दे दिया। सीबीआई कोर्ट ने दूसरे आईपीएस अधिकारी एडिशनल डीजीपी पीपी पांडे को भी जमानत पर रिहा कर दिया। उन्हें भी 50 हजार रुपये के मुचलके और गुजरात न छोड़ने की शर्त पर रिहा किया गया।
वंजारा को जमानत मिलने पर उनके भाई ने कहा कि मैं खुश हूं कि देश को उनसे बेहतर आतंकवाद से मुकाबला करने वाला शख्स नहीं मिलेगा। ये सच की जीत है और इसमें 8 साल लगे हैं। राजनीति में जाने के सवाल पर भाई ने कहा कि वंजारा का राजनीति में जाने का कोई इरादा नहीं है।

नेशनल

कोरोना वैक्सीन को लेकर आई खुश कर देने वाली खबर

Published

on

नई दिल्ली। भारत में कोरोना के मामले फिलहाल कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। ऐसे में सबकी नजरें अब कोरोना की वैक्सीन पर लगी है कि आखिर इसकी वैक्सीन कब आएगी। इस बीच कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक खुश करने वाली खबर सामने आई है।

डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज लिमिटेड को कोविड-19 के रूस में बने टीके स्पूतनिक वी के भारत में दूसरे और तीसरे चरण के ह्यूमन क्लिनिकल ट्रायल करने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी की ओर से बताया गया है कि उसे और रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड को ड्रग कंट्रोल जनरल ऑफ इंडिया से यह मंजूरी मिली है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि यह एक नियंत्रित अध्ययन होगा, जिसे कई केंद्रों पर किया जाएगा।

कंपनी की ओर से कहा गया है कि वह महामारी से निपटने के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी टीका लाने को प्रतिबद्ध है। वहीं रशियन डायरेक्ट इंवेस्टमेंट फंड के अधिकारियों का कहना है कि भारत में होने वाले परीक्षण के साथ ही रूस में तीसरे चरण के परीक्षण के डेटा को साझा करेंगे। इससे भारत में स्पूतनिक वी के क्लिनिकल डेवलपमेंट में मदद मिलेगी।

Continue Reading

Trending