Connect with us

प्रादेशिक

मप्र : गबन आरोपी बैंक प्रबंधक ने आत्मसमर्पण किया

Published

on

मध्य प्रदेश,आरोप,सहकारी,प्रबंधक,तीन करोड़,आत्मसमर्पण,प्रेमबाबू,गबन,जिलाधिकारी,निरीक्षण,कर्मचारी

हरदा | मध्य प्रदेश के हरदा जिले में गबन के आरोप में फरार चल रहे सहकारी बैंक के प्रबंधक सुदर्शन जोशी ने सोमवार को पौने तीन करोड़ रुपये के साथ पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। वह गबन की यह राशि बोरे में लेकर पहुंचा। पुलिस अधीक्षक प्रेमबाबू शर्मा ने मंगलवार को बताया कि सुदर्शन लगभग तीन करोड़ रुपये के गबन का आरोपी है। पुलिस को पिछले कई दिनों से उसकी तलाश थी। वह सोमवार को गबन की राशि में से दो करोड़ 76 लाख 54 हजार 500 रुपये लेकर थाने पहुंचा। यह राशि गबन की राशि में से 26 हजार 150 रुपये कम है।

पुलिस अधीक्षक के अनुसार, इस पूरे मामले का खुलासा अपर जिलाधिकारी गणेश शंकर मिश्रा द्वारा 22 जनवरी को बैंक शाखा का निरीक्षण के दौरान राशि न मिलने पर हुआ था। आरोपी का एक साथी कर्मचारी भी फरार है। पुलिस ने इस गबन में बैंक के कई अधिकारियों के शामिल होने की आशंका जताई है। फिलहाल मामले की जांच चल रही है।

प्रादेशिक

लखनऊः अमित शाह ने सीएए के समर्थन में की रैली, विपक्ष पर लगाया ये बड़ा आरोप

Published

on

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह ने लखनऊ में जनसभा को संबोधित किया। अमित शाह ने कहा कि CAA के खिलाफ विपक्ष भ्रम फैला रहा है और देश को तोड़ने का काम किया जा रहा है। इसी मुद्दे पर हमारी पार्टी ने जन जागरण अभियान करने का फैसला किया है।

अमित शाह ने विपक्ष पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि जब कश्मीर से लाखों कश्मीरी पंडितों को भगा दिया गया था, तो इनका मानवाधिकार कहां गया था। उन्होंने कहा कि जिसको विरोध करना है कर ले, लेकिन CAA वापस नहीं होगा।

गृह मंत्री ने कहा कि संसद के सत्र में जब हमारी सरकार बिल लाई तो राहुल बाबा एंड कंपनी विरोध में काउ-काउ कर रही थी। इस मुद्दे पर भ्रम फैलाया जा रहा है कि इस कानून से मुसलमानों की नागरिकता चली जाएगी। विपक्ष का कोई भी नेता चर्चा करने के लिए तैयार हो जाए तो हमारी ओर से स्वतंत्रदेव सिंह चर्चा के लिए तैयार हैं।

आपको बता दें कि देश के कई हिस्सों में सीएए को लेकर लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इसके जवाब में बीजेपी ने सीएए के संबंध में जागरुकता अभियान शुरू करने का ऐलान किया और इसी के बाद अमित शाह के अलावा कई अन्य केंद्रीय मंत्री भी जनसभा आयोजित कर रहे हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending