Connect with us

ऑफ़बीट

सुहागरात पर दुल्‍हन की जगह दिखी कौन कि दूल्‍हे के उड़ गए होश

Published

on

सुहागरात, दुल्‍हन, दूल्‍हे, होश, कन्नौज,

कानपुर। कन्नौज में शनिवार को हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां सुहाग रात में दूल्‍हे को पता चला की उसकी पत्नी किन्नर है जबकि लड़की यानी दुल्‍हन को इसका पता पहले से ही था। गांव में पंचायत के बाद वधू पक्ष ने छोटी बेटी से ब्याह करने का वादा किया था।

सुहागरात, दुल्‍हन, दूल्‍हे, होश, कन्नौज,
मामला बीती 13 मई का है। उस दिन युवक की शादी हुई थी। सुहागरात में युवक ने गौर से देखा तो पता चला कि उसकी पत्नी किन्नर है तो उसे तगड़ा झटका लगा। युवक को माजरा समझ में नहीं आया और उसने यह बात अपनी भाभी से कही।

इसके बाद कोहराम मच गया। रात को ही ससुरालियों को बुलाया गया। मामले को सुलझाने की कोशिशें शुरू हो हुईं। वधू के पिता ने दूल्‍हे का विवाह अपनी छोटी बेटी से करने का वादा किया। पिता ने कहा कि वह अपनी बेटी से युवक का विवाह एक म‍हीने बाद करा देगा। लेकिन लड़की पक्ष के लोग अपने वादे से मुकर गए।

इस पर दूल्‍हे पक्ष के लोग थाने पहुंच गए। वहां उन्‍होंने मामला दर्ज करा दिया है। वहीं पीड़ित ने पुलिस से इस मामले में न्याय की गुहार लगाई है। बता दें कि बारात ठठिया थाने के सुखी कुढ़ना गांव आयी थी। वहीं, लड़का पक्ष कानपुर देहात के उखरी उरिया गांव के रहने वाले बताए जा रहे हैं।

फिलहाल मामले में शनिवार को एक बार फिर पंचायत बैठने की उम्मीद लगाई जा रही है, लेकिन सवाल ये खड़ा होता है कि क्या लड़के पक्ष के लोगों की मांग पर लड़की वाले क्‍या रुख अपनाते है। पुलिस दोनों पक्षों में सुलह कराने में जुटी है।

ऑफ़बीट

कहानी संग्रह ‘आकाश में कोरोना घना है..’ का हुआ विमोचन

Published

on

By

रायबरेली के फिरोज गांधी कॉलेज सभागार में आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी स्मृति कार्यक्रम में 21 नवंबर को कोरोना संकट काल पर केंद्रित कहानी संग्रह “आकाश में कोरोना घना है..” का विमोचन पद्मश्री सुधा वर्गीज, प्रख्यात गीतकार मनोज मुंतशिर, सरस्वती के सहायक संपादक अनुपम परिहार, नई दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार प्रेम प्रकाश और समाजसेवी मुकेश बहादुर सिंह ने किया। संग्रह की कहानी लेखिका सना आफरीन और गौरव अवस्थी ने विमोचन संपन्न कराया।

कोरोना संकटकाल पर केंद्रित इस कहानी संग्रह में देश भर के लेखकों-पत्रकारों की 29 कहानियां संग्रहीत हैं।पत्रकार गौरव अवस्थी द्वारा संपादित कोरोना संकट पर केंद्रित यह कहानी संग्रह देश में पहला ऐसा संग्रह है, जिसमें कोरोना संकट का आंखों देखा सच समाहित है।

लिटिल बर्ड पब्लिकेशंस नई दिल्ली से प्रकाशित इस संग्रह को पाठकों ने हाथों हाथ लिया है और इस कहानी संग्रह को देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी लोगों ने काफी पसंद किया है।

Continue Reading

Trending