Connect with us

मुख्य समाचार

मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं : लालू

Published

on

लालू यादव राजद, भाजपा, आरएसएस, लालू प्रसाद यादव,

पटना। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने अपने परिवार की कथित बेनामी संपत्ति के मामले में 22 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और भाजपा समर्थित मीडिया पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि ‘भाजपा में इतनी हिम्मत नहीं की वह लालू की आवाज को दबा सके। मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं।’

लालू, लालू प्रसाद यादव, राजद, आयकर विभाग

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने मंगलवार को ट्वीट कर लिखा, “भाजपा को नए ‘अलायंस पार्टनर’ मुबारक हो। लालू प्रसाद झुकने और डरने वाला नहीं है। जब तक आखिरी सांस है, फासीवादी ताकतों के खिलाफ लड़ता रहूंगा।”

लालू भाजपा के नए ‘अलायंस पार्टनर’ किसे कह रहे हैं, इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

लालू ने एक के बाद एक तीन ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधते हुए एक अन्य ट्वीट में लिखा, “भाजपा में हिम्मत नहीं कि लालू की आवाज को दबा सके। लालू की आवाज दबाएंगे तो देशभर में करोड़ों लालू खड़े हो जाएंगे। मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं हूं।”

एक अन्य ट्वीट में मीडिया पर भड़ास निकालते हुए लालू ने लिखा, “अरे पढ़े-लिखे अनपढ़ो, ये बताओ कि कौन से 22 ठिकानों पर छापेमारी हुई। भाजपा समर्थित मीडिया और उसके सहयोगी घटकों (सरकारी तोतों) से लालू नहीं डरता।”

आयकर विभाग ने मंगलवार को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके परिवार के खिलाफ कथित बेनामी संपत्ति मामले में दिल्ली और गुरुग्राम में 22 स्थानों पर छापेमारी की है।

गौरतलब है कि पिछले 40 दिनों से भाजपा के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी लालू प्रसाद के परिवार वालों पर बेनामी संपत्ति अर्जित करने को लेकर लगातार नए खुलासे करते रहे हैं।

प्रादेशिक

उन्नाव रेप केसः कुलदीप सिंह सेंगर दोषी करार, सज़ा का ऐलान 19 को

Published

on

नई दिल्ली। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने उन्नाव रेप केस में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को दोषी ठहराया है, साथ ही कोर्ट ने सह आरोपी महिला शशि सिंह को बरी कर दिया।

शशि सिंह नौकरी दिलाने के बहाने पीड़िता को कुलदीप सेंगर के पास लेकर गई थी, जिसके बाद सेंगर ने पीड़िता का रेप किया। 19 दिसंबर को सजा पर सुनवाई की जाएगी। सेंगर पर पोक्सो के तहत मामला दर्ज था।

इस दौरान कोर्ट ने सीबीआई को भी फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि पीड़िता ने अपनी और परिवार की जान बचाने के लिए इस केस को देर से रजिस्टर कराया गया।

कोर्ट ने कहा कि हम पीड़िता की मन की व्यथा को समझते हैं। कोर्ट ने कहा कि गैंगरेप वाले केस में सीबीआई ने एक साल चार्जशीट दाखिल करने में क्यों लगाया?

तीस हजारी कोर्ट ने विधायक कुलदीप सेंगर को धारा 120 बी (आपराधिक साजिश), 363 (अपहरण), 366 (शादी के लिए मजबूर करने के लिए एक महिला का अपहरण या उत्पीड़न), 376 (बलात्कार और अन्य संबंधित धाराओं) और पाक्सो तहत दोषी ठहराया है।

गौरतलब है कि उन्नाव रेप केस के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर वर्तमान में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। तीस हजारी कोर्ट ने इस मामले में अगस्त में ही आरोप तय कर दिए थे।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending