Connect with us

ऑफ़बीट

खुद से बातें करते हैं तो आप अपने काम में फोकस्ड हैं

Published

on

फोकस्ड, रिसर्च, कामकाज, काम

वाशिंगटन। काम करते वक्त या कोई खेल खेलते वक्त अगर कोई खुद से बात करना है तो आमतौर पर हम इसे सामान्य नहीं मानते। लेकिन हाल ही हुई एक रिसर्च में सामने आया है कि जो लोग कामकाज के वक्त खुद से बातें करते हैं, वह चुप होकर काम करने वाले लोगों की तुलना में अपने काम पर ज्यादा अच्छे तरीके से फोकस कर पाते हैं।

फोकस्ड, रिसर्च, कामकाज, काम

बेंगर यूनिवर्सिटी में हुए एक अध्‍ययन में साइकॉलजिस्ट्स ने 28 लोगों को लिखित निर्देश दिए और उनसे इन निर्देशों को मन में या बोलकर पढ़ने को कहा।

इस दौरान उनकी परफॉर्मेंस और कॉन्सनट्रेशन को परखा गया। शोधार्थियों ने पाया कि जिन लोगों ने निर्देशों को बोलकर पढ़ा, उनके दिमाग ने तथ्यों को उन लोगों की तुलना में अधिक अब्जॉर्ब किया, जिन्होंने इन्हें मन में पढ़ा।

न्यूरॉसाइकॉलजी ऐंड कॉगनेटिव साइकॉलजी की लेक्चरर और शोध से जुड़ी डॉक्टर पलोमा मेरी-बेफा के अनुसार ‘हमारे शोध में सामने आया है कि परफॉर्मेंस के दौरान जब हम खुद से बात करते हैं तो हमारी परफॉर्मेंस कहीं अधिक बेहतर होती है।

खासतौर पर जब हम मन में बोलने की जगह लाउड बोलकर बात करते हैं।’ जब हमारा ध्यान अपने काम पर लगा हो और हम बोलकर खुद से बात कर रहे हों, तो यह इस बात का प्रतीक या सिंबल है कि हमारा पूरा फोकस अपने काम पर है।

अन्तर्राष्ट्रीय

19 साल से रोज नाक से अपना पेशाब पीता है ये शख्स, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे

Published

on

नई दिल्ली। अगर आपको स्वस्थ रहने के लिए अपना ही यूरीन (पेशाब) पीने को कोई कहे तो आप उसे महापागल समझेंगे। लेकिन दुनिया में एक ऐसा शख्स है जो लगभग 19 वर्षों से यह कर रहा है। उसका मानना है कि ऐसा करने पर वह चुस्त-दुरुस्त रहता है साथ ही उसकी कई बीमारियां भी ठीक हो चुकी हैं।

इस शख्स का नाम Sam Cohen है। ये शख्स लगातार 19 सालों से रोजाना अपने पेशाब का सेवन कर रहा है। शख्स का दावा है कि जब से वह ऐसा कर रहा है उसे कोई बीमारी नहीं हुई। यहां तक कि सर्दी-जुकाम भी नहीं। सैम का दावा है कि इसके कारण उनकी सेक्स लाइफ भी कापी इम्प्रूव हुई है।

बता दें कि, सैम ब्रिटेन के रहने वाले हैं और एक योगा टीचर हैं। सैम यूरीन नाक से ग्रहण करने के लिए अपने साथ एक कप भी हमेशा अपने साथ रखते हैं।

सैम ने बताया कि पहले उसमें एनर्जी की कमी रहती थी। 22 साल की उम्र में जब उसने पहली बार पीया तो उसे ताजगी का एहसास हुआ। इसके बाद वो ऐसा रोज करने लगा।

सैम का कहना है कि मैं ये हर रोज करता हूं और दिन में कम से कम 10-20 बार तो करता ही हूं। इसके लिए मैं अपने साथ एक कप भी कैरी करता हूं। यहां तक की प्लेन में यात्रा करने के दौरान भी। शायद मैं पहला शख्स हूं, जिसने हजारों फीट की उंचाई पर भी ऐसा किया होगा।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending