Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

US ने एच-1बी वीजा की प्रीमियम प्रोसेसिंग को अस्थायी रूप से किया स्थगित

Published

on

अमेरिका, एच-1बी वीजा, वाशिंगटन, यूएससीआईएस, अमेरिका वित्त वर्ष

वाशिंगटन। अमेरिका  ने आज एच-1बी वीजा की प्रीमियम प्रोसेसिंग को अस्थायी रूप से स्थगित कर दिया है। अप्रैल के पहले सप्ताह में कार्य वीजा के लिए आने वाले बड़ी संख्या में आवेदनों को देखते हुए यह कदम उठाया गया है। एच-1बी वीजा भारतीय आईटी कंपनियों तथा पेशेवरों के बीच काफी लोकप्रिय है।

अमेरिका, एच-1बी वीजा, वाशिंगटन, यूएससीआईएस, अमेरिका वित्त वर्ष

अमेरिकी नागरिकता तथा आव्रजन सेवाएं (यूएससीआईएस) की कार्यवाहक निदेशक लोरी साइलएब्बा ने सदन के सदस्यों को बताया कि एच-1बी कार्यक्रम को स्थगित नहीं किया गया है। हमने प्रीमियम प्रोसेसिंग स्थगित की है। इसका मतलब है कि हमें आवेदनों की प्रोसेसिंग 15 दिन में करनी होगी।

अमेरिका वित्त वर्ष 2017-18 के लिए एच-1बी कार्य वीजा के लिए आवेदन तीन अप्रैल से स्वीकार करना शुरू करेगा। सांसदों के सवाल पर लोरी ने कहा कि अप्रैल के पहले सप्ताह में यूएससीआईएस को दो लाख या इससे अधिक एच-1बी आवेदन मिलेंगे।

उन्होंने कहा कि हम प्रीमियम प्रोसेसिंग नहीं कर पाएंगे। यदि एक सप्ताह में हमें दो लाख आवेदन मिलेंगे तो ऐसा करना संभव नहीं है। इसे अस्थायी रूप से स्थगित किया गया है।

अन्तर्राष्ट्रीय

रूस के राष्ट्रपति का एलान- हमने बना ली कोरोना की वैक्सीन, मेरी बेटी को लगा टीका

Published

on

मॉस्को। जब पूरी दुनिया में कोरोना जमकर कहर बरपा रहा है ऐसे में रूस से एक उम्मीद की किरण जगी है।
दरअसल रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने ऐलान किया है कि हमने दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन बना ली है और इसे देश में रजिस्टर्ड भी करा लिया है। पुतिन ने बताया कि इस वैक्सीन का टीका उनकी बेटी को भी लगाया गया है। पुतिन ने कहा- मेरी बेटी ने भी इस वैक्सीन का टीका लिया है, शुरू में उसे हल्का बुखार था लेकिन अब वह बिलकुल ठीक है।

पुतिन ने कहा कि इस सुबह दुनिया में पहली बार, नए कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्‍सीन रजिस्‍टर्ड हुई।” उन्‍होंने उन सभी को धन्‍यवाद दिया जिन्‍होंने इस वैक्‍सीन पर काम किया है। पुतिन ने कहा कि वैक्‍सीन सारे जरूरी टेस्‍ट से गुजरी है। अब यह वैक्‍सीन बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए भेजी जाएगी।

रूसी अधिकारियों के मुताबिक, Gam-Covid-Vac Lyo नाम की इस वैक्सीन को तय योजना के मुताबिक रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय और रेग्युलेटरी बॉडी का अप्रूवल मिल गया है। बताया जा रहा है कि इस वैक्सीन को सबसे पहले फ्रंटलाइन मेडिकल वर्कर्स, टीचर्स और जोखिम वाले लोगों को दिया जाएगा। रूस ने कई देशों को भी वैक्‍सीन सप्‍लाई करने की बात कही है। रूस का कहना है कि वह अपने कोरोना टीके का बड़े पैमाने पर उत्‍पादन सितंबर से शुरू कर सकता है।

Continue Reading

Trending