Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

केन्या : सुरक्षा बढ़ाने को हो रही हाथियों की गिनती

Published

on

सावो । हाथियों और अन्य स्तनधारी जीवों की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए केन्या में उनकी गिनती कराई जा रही है। कई प्रकार की असुरक्षा, जैसे- शिकार, सूखे और उनके लिए घटती रिहायशी इलाकों के मद्देनजर यह गणना कराई जा रही है। वाइल्डलाइफ सर्विस (केडब्ल्यूएस) इस गिनती से उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार ही वन्यजीवों की सुरक्षा का बंदोबस्त करेगी। 

केडब्ल्यूएस के सहायक निदेशक शैड्रेक नगेन (पारिस्थितिकी निगरानी) ने कहा कि पिछले सप्ताह शुरू हुई हवाई गिनती से इंसानी गतिविधियों और जलवायु परिवर्तन से होने वाली परेशानियों के बारे में पता चलेगा, जिससे भविष्य में इन वन्यजीवों की सुरक्षा के मद्देनजर जरूरी कदम उठाए जा सकते हैं।

शैड्रेक नगेन के मुताबिक, “हाथी और बड़े स्तनधारी जीवों की हो रही गणना का मूल उद्देश्य खिरार, सूखा और उनके लिए कम होते रिहायशी आवासों जैसी कई चुनौतियों के संबंध में संख्या का आकलन करना है।”

प्राकृतिक संरक्षण समूहों की सहायता से पिछले सप्ताह केडब्ल्यूएस ने पूर्वी अफ्रीका के सबसे बड़े वन्यजीव अभयारण्य सावो नेशनल पार्क में हाथियों की गिनती करानी शुरू की।

नगेन ने बताया कि फरवरी 2014 में हुई पिछली गणना के आधार पर सावो राष्ट्रीय उद्यान 11,2017 हाथियों का घर है।

अन्तर्राष्ट्रीय

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने CAA-NRC को लेकर दिया ये बयान

Published

on

नई दिल्ली। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) को लेकर बड़ा बयान दिया है।

शेख हसीना ने गल्फ न्यूज को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा कि यह भारत का आंतरिक मामला बताया है। इंटरव्यू में शेख हसीना ने सीएए पर कहा कि हम यह नहीं समझते कि (भारत सरकार) ने ऐसा क्यों किया। यह जरूरी नहीं था।

हसीना का यह बयान बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.के. अब्दुल मोमन बयान के बाद आया है। मोमन ने कहा था कि सीएए और एनआरसी भारत के आंतरिक मुद्दे हैं, लेकिन चिंता व्यक्त की कि देश में किसी भी अनिश्चितता से उसके पड़ोसियों को प्रभावित होने की संभावना होती है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending