Connect with us

खेल-कूद

बोल्ट व बाइल्स को ‘स्पोर्ट्सपीपुल ऑफ द इयर’ पुरस्कार

Published

on

मोंटे कार्लो (मोनाको) | बीते साल बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले जमैका के फर्राटा धावक उसेन बोल्ट और अमेरिका की महिला जिमनास्ट सिमोन बाइल्स को लॉरेस वल्र्ड स्पोर्ट्स अवार्डस-2017 में सर्वश्रेष्ठ पुरुष और महिला खिलाड़ी चुना गया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, बोल्ट ने 100, 200, और 4 गुणा 100 मीटर स्पर्धा में रियो ओलम्पिक-2016 में स्वर्ण पदक जीते थे। इसी कारण मंगलवार को हुए अवार्ड समारोह में उन्होंने लेब्रोन जेम्स, एंडी मरे और क्रिस्टियानो रोनाल्डो जैसे दिग्गज खिलाड़ियों को पीछे छोड़ा।

यह चौथी बार है जब बोल्ट को यह पुरस्कार मिला है। टेनिस के दिग्गज खिलाड़ी स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर भी यह पुरस्कार चार बार जीत चुके हैं।

सिमोन बाइल्स ने रियो ओलम्पिक में चार स्वर्ण और एक कांस्य पदक जीता था। उन्होंने साल की सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी की दौड़ में अमेरिका की एलिसन फेलिक्स, जर्मनी की टेनिस खिलाड़ी एंजेलिक केर्बर को पीछे छोड़ा है।

साल की सर्वश्रेष्ठ टीम का पुरस्कर मेजर लीग बेसबाल के शिकागो क्लब को मिला है जिसने 108 साल बाद पहली बार वल्र्ड सीरीज का खिताब जीता था।

फार्मूला वन ड्राइवर जर्मनी के निको रोसबर्ग साल का ब्रेकथ्रू अवार्ड जीतने में कामयाब रहे हैं। उन्होंने मोटर रेसिंग में संन्यास के बाद लौटने पर बीते साल पहली बार विश्व खिताब जीता था।

वापसी करने के लिए साल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार (कमबैक आफ द इयर अवार्ड) अमेरिका के दिग्गज तैराक माइकल फेल्प्स को मिला है जिन्होंने रियो ओलम्पिक में पांच स्वर्ण और एक रजत पदक जीता था।

विकलांग खिलाड़ियों में साल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार इटली के व्हीलचेयर फेंसिंग एथलीट बीएट्राइस वियो को मिला है।

स्प्रिट आफ स्पोर्ट्स अवार्ड प्रीमियर लीग विजेता फुटबाल क्लब लीसेस्टर सिटी को दिया गया।

ओलम्पिक इतिहास में पहली बार शरणार्थियों की टीम ने हिस्सा लिया था। इस टीम को खेल प्रेरणा के लिए लॉरेस पुरस्कार दिया गया।

खेल-कूद

आत्मरक्षा के लिए बच्चे और महिलाएं जरूर सीखें कुंग फू: शिशिर

Published

on

लखनऊ। खेल से स्वस्थ और फिट रह सकते हैं। खेलों के प्रति बच्चों का रुझान कम होना अच्छे संकेत नहीं हैं। आज बच्चों का खेल मैदान से नाता कम होने का खामियाजा समाज को भुगतान पड़ रहा हैं। बच्चियों और महिलाओं के प्रति अपराध बढ़ रहे हैं, ऐसी दशा में बच्चियों और महिलाओं को अपनी रक्षा स्वयं करने के लिए आत्म रक्षा की कला कुंग फू को सीखना चाहिए।

यह बातें सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के निदेशक शिशिर ने 13वीं राष्ट्रीय कुंग फू प्रतियोगिता के आज दूसरे दिन बालिकाओं की सांडा फाइट के उद्घाटन के मौके पर कही।

उन्होंने कहा कि छोटे छोटे बच्चों को कुंग फू खेल खेलते देख अपना बचपन याद आ गया। कुंग फू फेडरेशन ऑफ इंडिया का यह प्रयास काफी सराहनीय है। उन्होंने ने कहा कि इस आत्म रक्षा के खेल को हर स्तर से बढ़ावा दिया जाना चाहिए।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending