Connect with us

हेल्थ

एस्पिरिन कैंसर रोकने में भी मददगार

Published

on

एस्पिरिन कैंसर रोकने में भी मददगार

वाशिंगटन । एस्पिरिन दवा दर्द, बुखार और सूजन में तो राहत देती ही है, इसकी दैनिक खुराक कैंसर रोकने में भी मददगार साबित हो सकती है। एक नए शोध में यह पता चला है।

पहले के शोध में पता चला था कि एस्पिरन कैंसर के कुछ प्रकारों को रोक सकती है, लेकिन वैज्ञानिक सालों तक इस बात को लेकर उलझन में रहे कि बुखार, सूजन कम करने की दवा कैसे इस जानलेवा बीमारी को रोक सकती है।

नए शोध में टेक्सास के ‘वेटरन अफेयर्स’ के वैज्ञानिकों के हवाले से बताया गया है कि प्लेटलेट्स के साथ दर्द निवारक दवा की पारस्परिक क्रिया से जो रक्त कोशिकाएं थक्के बनाती हैं, वे रक्तस्राव रोक देती हैं, जिससे ट्यूमर का बढ़ना रुक सकता है।

शोध की रिपोर्ट पत्रिका ‘कैंसर प्रिवेंशन रिसर्च’ के फरवरी के अंक में प्रकाशित हुई। इसमें कहा गया है कि एस्पिरिन सामान्य रूप से थक्के बनने की प्रक्रिया को कॉक्स-1 एंजाइम के जरिए रोक देता है, जिससे प्लेटलेट्स और कैंसर की कोशिकाओं के बीच परस्पर क्रिया बंद हो जाती है और ट्यूमर का बढ़ना रुक जाता है।

मुख्य समाचार

स्वस्थ दिमाग के लिए पैरों की कसरत जरूरी

Published

on

By

स्वस्थ मस्तिष्क व तंत्रिका तंत्र के लिए पैरों की कसरत जरूरी है। एक नए शोध में पता चला है कि तंत्रिका तंत्र से जुड़ा स्वास्थ्य पैरों द्वारा दिमाग को भेजे जाने वाले संकेतों पर निर्भर है।

Uttarakhand : 30 नम्बर को होने वाला कार्तिक पूर्णिमा स्नान आयोजन रद्द

शोध के परिणामों से चिकित्सकों को नए संकेत मिले हैं कि क्यों मोटर न्यूरान बीमारी, मल्टीपल स्किलिरोसिस, स्पाइनल मस्कुलर एट्रोफी व दूसरी तंत्रिका तंत्र से जुड़ी बीमारियों में मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से गिरावट आती है। इसकी वजह इन बीमारियों के मरीजों में चलने की गतिविधि सीमित होना है।

शारीरिक व्यायाम कम होने से शरीर को नई तंत्रिका कोशिकाओं के उत्पादन में दिक्कत होती है। यह तंत्रिका कोशिकाएं व्यक्ति को तनाव व जीवन की चुनौतियों से मुकाबले में मदद करती हैं। ये शोध इस धारणा का समर्थन करता है कि जो लोग वजन उठाने वाले व्यायाम करने में असमर्थ हैं – बिस्तर पर पड़े मरीज, या लंबी यात्रा के अंतरिक्ष यात्री- उनमें न सिर्फ मांस पेशियों का भार घटता है, बल्कि कोशिकीय स्तर पर उनके शरीर की केमिस्ट्री में बदलाव हो जाता है और यहां तक कि उनके तंत्रिका तंत्र पर विपरीत प्रभाव पड़ता है।

Continue Reading

Trending