Connect with us

नेशनल

नोटबंदी पर सर्वोच्च न्यायालय की सुनवाई 9 दिसंबर तक टली

Published

on

सर्वोच्च न्यायालय, नोटबंदी, याचिका, टी.एस. ठाकुर, कपिल सिब्बल, डी.वाई. चंद्रचूड़
सर्वोच्च न्यायालय, नोटबंदी, याचिका, टी.एस. ठाकुर, कपिल सिब्बल, डी.वाई. चंद्रचूड़

सर्वोच्च न्यायालय

नई दिल्ली  | सर्वोच्च न्यायालय नोटबंदी के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा। इसमें केंद्र सरकार की यह याचिका भी शामिल होगी, जिसमें विभिन्न उच्च न्यायालयों और निचली अदालतों में इस मुद्दे पर दर्ज मामले सर्वोच्च न्यायालय या दिल्ली उच्च न्यायालय में स्थानांतरित करने की मांग की गई है। भारत के मुख्य न्यायाधीश और मामले की सुनवाई कर रही पीठ के अध्यक्ष टी.एस. ठाकुर के अवकाश पर होने की वजह से सोमवार को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध मामला शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

इस पीठ के न्यायमूर्ति ए.एम. खानविलकर और डी.वाई. चंद्रचूड़ ने सुनवाई स्थगित कर दी। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति ठाकुर और न्यायमूर्ति चंद्रचूड़ की पीठ ने दो दिसंबर को याचिकाओं की सुनवाई का निर्देश दिया था। इसमें नोटबंदी को चुनौती देने वाली याचिका और वह याचिका शामिल है, जिसमें देश भर के मामलों को स्थानांतरित करने की मांग केंद्र सरकार ने की है।

अदालत ने दो दिसंबर को महान्यायवादी, मुकुल रोहतगी और वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल को साथ में बैठने और विभिन्न मामलों को उनकी समानता श्रेणीबद्ध करने को कहा था, ताकि मामले की सुनवाई सुव्यवस्थित ढंग से चले।

 

नेशनल

निर्भया के दोषियों को अब इस तारीख को होगी फांसी, कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट

Published

on

नई दिल्ली। निर्भया गैंगरेप केस के चारों दोषियों की फांसी की नई तारीख आ गई है। कोर्ट ने सभी दोषियों के लिए नया डेथ वारंट जारी कर दिया है।

सूत्रों के मुताबिक चारों को 1 फरवरी की सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा। चारों दरिंदों के पास अब केवल 350 घंटे ही शेष हैं। बता दें कि शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दोषी मुकेश की दया याचिका खारिज कर दी थी।

इससे पहले पटियाला हाउस कोर्ट ने चारों दोषियों को 22 जनवरी सुबह 7 बजे फांसी पर लटकाने की तारीख तय की थी, लेकिन इसके बाद दोषी मुकेश सिंह ने राष्ट्रपति के सक्षम दया याचिका लगा दी थी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा निर्भया के दोषी मुकेश सिंह की दया याचिका खारिज होने के बाद कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी किया है।

वहीं, इस मामले में नया डेथ वारंट जारी होने के बाद निर्भया की मां आशा देवी ने कहा कि जब तक दोषियों को फांसी पर नहीं लटका दिया जाता है, तब तक मेरी बेटी को न्याय नहीं मिलेगा। मुझको पिछले सात साल से तारीख पर तारीख दी जा रही है। उन्होंने कहा कि हमारा सिस्टम ऐसा है कि जहां दोषी की सुनी जाती है। हर जगह निर्भया के गुनहगारों का ही मानवाधिकार देखा जा रहा है। हमारा मानवाधिकार कोई नहीं देख रहा है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending