Connect with us

खेल-कूद

विशाखापट्टनम टेस्ट : क्रीज पर जमे पुजारा और कोहली

Published

on

विशाखापट्टनम, टेस्ट, राहुल द्रविड़, कोहली, कप्तान, इंग्लैंड, मुरली विजय

विशाखापट्टनम, टेस्ट, राहुल द्रविड़, कोहली, कप्तान, इंग्लैंड, मुरली विजय

विशाखापट्टनम| चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 97) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 91) की शानदार पारियों की बदौलत भारत ने डॉ. वाई. एस. राजशेखर रेड्डी एसीए-वीसीए क्रिकेट स्टेडियम में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को इंग्लैंड के खिलाफ चायकाल तक 56.2 ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर 210 रन बना लिए हैं। मेजबानों ने अपने दोनों विकेट पहले सत्र में गंवाए।

अपना 50वां मैच खेल रहे कप्तान कोहली और पुजारा ने दूसरे सत्र में इंग्लैंड के गेंदबाजों को विकेट से महरूम रखा। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए अभी तक 188 रनों की साझेदारी हो चुकी है। यह इंग्लैंड के खिलाफ 2002 के बाद से भारत की तरफ से तीसरे विकेट के लिए पहली शतकीय साझेदारी है।

इससे पहले सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ ने तीसरे विकेट के लिए इंग्लैंड के खिलाफ हेडिंग्ले में 150 रनों की साझेदारी की थी।

पुजारा ने इसके साथ ही अपने 3,000 रन भी पूरे कर लिए हैं। वह इस मैच से पहले इस मुकाम को हासिल करने से महज तीन रन दूर थे। 177 गेंदों में 11 चौके और एक छक्का लगाने वाले पुजारा अपने 10वें शतक से तीन रन दूर हैं। कोहली 135 गेंदों का सामना करते हुए 11 चौके लगा चुके हैं।

टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को हालांकि अपेक्षित शुरूआत नहीं मिली। चोट से उबरकर टीम में वापसी करने वाले युवा बल्लेबाज लोकेश राहुल दूसरे ही ओवर में खाता खोले बगैर पवेलियन लौट गए। स्टुअर्ट ब्रॉड की गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए गली में खड़ो बेन स्टोक्स के हाथों में समा गई।

दूसरे सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (20) टेस्ट करियर में 3000 रन पूरा करने के ठीक बाद इंग्लिश टीम में वापसी करने वाले जेम्स एंडरसन का शिकार हो गए। चार चौके लगाकर बेहतरीन लय में दिख रहे मुरली इंग्लैंड के सफलतम गेंदबाद एंडरसन की बाउंस पर बीट हुए और गेंद उनके ग्लव्स से टकराकर सीधा स्टोक्स के पास गई, जिसे कैच करने में स्टोक्स ने कोई गलती नहीं की।

 

 

खेल-कूद

पूर्व क्रिकेटर कपिल देव को पड़ा दिल का दौरा, दिल्ली के अस्पताल में करवाई एंजियोप्लास्टी

Published

on

नई दिल्ली। भारत को 1983 का क्रिकेट वर्ल्ड कप दिलवाने वाले दिग्गज क्रिकेटर कपिल देव को दिल का दौरा पड़ा है जिसके बाद उन्होंने दिल्ली के एक अस्पताल में एंजियोप्लास्टी करवाई है।

फिलहाल वह खतरे से बाहर बताए जा रहे हैं और उनकी हालत स्थिर है। कपिल देव की यह खबर सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर उनके स्वास्थ्य लाभ को लेकर दुआओं का सिलसिला शुरू हो गया है। यूजर उनके जल्छ ठीक होने की कामना कर रहे हैं।

कपिल देव की कप्तानी में भारत ने 1983 में पहला वर्ल्ड कप जीता था। कपिल देव एक बेहतरीन ऑलराउंडर रहे हैं।

Continue Reading

Trending