Connect with us

खेल-कूद

राजकोट टेस्ट : इंग्लैंड का चक्रव्यूह तोडऩे में कामयाब रहा भारत, मैच ड्रॉ

Published

on

Virat Kohli, Alastair Cookराजकोट। सौराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में हुए पहले टेस्ट मैच के पांचवें दिन रविवार को चौथी पारी में इंग्लैंड से मिले 310 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम ने मैच समाप्त होने तक छह विकेट पर 172 रन बनाते हुए मैच ड्रॉ करा लिया। मैच समाप्त होने तक कप्तान विराट कोहली 49 और रवींद्र जडेजा 32 रन बनाकर नाबाद रहे।

चौथी पारी में लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम एक समय 100 के स्कोर के भीतर चार अहम विकेट गंवा चुकी थी, जिससे भारतीय क्रिकेट प्रेमियों को भारत के हारने का डर सताने लगा था। लेकिन कप्तान कोहली ने रविचंद्रन अश्विन के साथ पांचवें विकेट के लिए 47 और जडेजा के साथ नाबाद 31 रनों की साझेदारी करते हुए मैच बचा लिया।

इंग्लैंड के लिए आदिल राशिद ने दूसरी पारी में तीन विकेट हासिल किए। पहली पारी में भी उन्होंने सर्वाधिक चार विकेट चटकाए थे। भारत का अभी खाता भी नहीं खुला था कि गौतम गंभीर, क्रिस वोक्स की गेंद जोए रूट को थमा बैठे। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा (18) ने मुरली विजय (31) के साथ दूसरे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी कर पारी को संभाला।

राशिद ने हालांकि इस साझेदारी को मजबूत होने से पहले ही पुजारा को पगबाधा कर दिया। मुरली विजय का विकेट भी राशिद ने ही चटकाया। अजिंक्य रहाणे (1) अगले ही ओवर में मोइन अली की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए।

इससे पहले मैच के पांचवें दिन भोजनकाल के ठीक बाद इंग्लैंड ने अपनी दूसरी पारी तीन विकेट पर 260 रन बनाकर घोषित कर दी और भारत के सामने चौथी पारी में जीत के लिए 310 रनों का लक्ष्य रखा। कप्तान एलिस्टर कुक (130) का विकेट गिरते ही इंग्लैंड ने अपनी पारी घोषित की। कुक का विकेट रविचंद्रन अश्विन ने लिया। रवींद्र जडेजा ने उनका कैच लपका।

बिना विकेट गंवाए 114 रन के स्कोर से आगे खेलने उतरी इंग्लिश टीम की पारी को कप्तान कुक ने पदार्पण मैच खेल रहे हसीब हमीद (82) के साथ सधे अंदाज में आगे बढ़ाना शुरू किया। दोनों बल्लेबाजों ने रविवार को टीम के स्कोर में 66 रनों का और इजाफा किया।

भारत को पहली सफलता हासिल करने में रविवार को करीब 22 ओवरों का इंतजार करना पड़ा। अमित मिश्रा ने 180 के कुल योग पर अपनी ही गेंद पर हमीद का कैच लपका। मिश्रा ने अगले ही ओवर में जोए रूट (4) को चलता कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई।

इंग्लैंड ने पहली पारी में रूट (124), मोइन अली (117) और स्टोक्स (128) की शतकीय पारियों की बदौलत 537 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था, जिसके जवाब में भारत ने भी मुरली विजय (126), चेतेश्वर पुजारा (124) और रविचंद्रन अश्विन (70) की बेहतरीन बल्लेबाजी बदौलत पहली पारी में 488 रन बनाए।

खेल-कूद

अब बिरयानी के लिए तरसेंगे पाकिस्तान के खिलाड़ी, जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के नए कोच मिस्बाह-उल-हक ने कोच बनते ही खिलाड़ियों के बिरयानी और मिठाई खाने पर बैन लगा दिया है। मिस्बाह ने ऐसा खिलाड़ियों के फिटनेस ठीक करने के लिए किया है।

आपको बता दें कि वर्ल्ड कप भारत से हार का सामना करने के बाद पाकिस्तान के समर्थकों ने खिलाड़ियों के फिटनेस को लेकर सवाल उठाए थे।

पाकिस्तान के कप्तान सरफराज भारत से हारने के बाद पाकिस्तान की जनता के निशाने पर आ गए थे। उनकी फिटनेस को लेकर जनता ने उन्हें खूब ट्रोल किया था।

रिपोर्ट के अनुसार, मिस्बाह ने राष्ट्रीय कैम्प और घरेलू टूर्नामेंट में खिलाड़ियों की डाइट में बदलाव करने की मांग की है ताकि टीम में नया फिटेनस कल्र्चर लाया जाए। उन्होंने खिलाड़ियों को बिरयानी और मिठाइयां खाने से मना किया है।

पाकिस्तान के पत्रकार साज सद्दीक ने ट्वीट किया, “खबरों के अनुसार, मिस्बाह-उल-हक ने घरेलू टूनार्मेट और राष्ट्रीय कैम्प में खिलाड़ियों के लिए आहार और पोषण की योजना को बदल दिया है। अब खिलाड़ियों के लिए बिरयानी या मिठाइयां नहीं होगीं।”

मिस्बाह और वकार यूनिस के मार्गदर्शन में अपनी पहली सीरीज में पाकिस्तान का सामना श्रीलंका से होगा। पाकिस्तान अपने घर में श्रीलंका के खिलाफ 27 सितंबर से नौ अक्टूबर के बीच तीन वनडे और तीन टी-20 मैचों की सीरीज खेलेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending