Connect with us

प्रादेशिक

उप्र के हापुड़ में जुटेंगे देशभर के 400 चिकित्सक

Published

on

हापुड़

हापुड़हापुड़। इंडियन मेडिकल ऐसोसिएशन (आईएमए) की हापुड़ शाखा के तत्वावधान में चिकित्सकों का राष्ट्रीय सम्मेलन तीन व चार सितंबर को हापुड़ में आयोजित किया जा रहा है। आईएमए के अध्यक्ष डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र में बच्चों के स्वास्थ को लेकर जागरूकता की कमी महसूस की जा रही है। इस कमी को दूर करने के लिए बेबी शो का भी आयोजन किया जाएगा। इसके अलावा हापुड़ के दिल्ली रोड स्थित एक वैवाहिक स्थल पर देशभर से आए लगभग चार सौ विशेषज्ञ डॉक्टर अपने अनुभव एक-दूसरे से साझा करेंगे।

डॉ. सुनील ने बताया कि परंपराओं से हटकर पहली बार आईएमए की ओर से सम्मेलन हापुड़में आयोजित किया जा रहा है। बेबी शो का आयोजन तीन सितंबर को किठौर रोड पर स्थित सूर्य एकेडमी में किया जाएगा।

हापुड़ के दिल्ली रोड पर स्थित एक वैवाहिक स्थल पर देशभर से आए लगभग 400 विशेषज्ञ डॉक्टर भाग लेंगे व अपने चिकित्सीय अनुभव के साथ नई चिकित्सा तकनीक एक-दूसरे से साझा करेंगे।

डॉ. श्याम कुमार ने बताया कि लगभग 25 लाख रुपये की लागत से आयोजित होने वाला यह सम्मेलन दो दिन चलेगा। इसमें हेल्थी बेबी शो, एक्सपर्ट ग्रुप डिस्कसन, रेनबो सेशन, फ्री पेपर सेशन, क्वीज कम्पटीशन, पोष्टर कम्पटीशन, फैमिली मेडिसन फोकस साइंटिफिक प्रोग्राम, नेशनल रिनॉव्ड फैकल्टी जैसे कार्यक्रम होंगे।

सम्मेलन के दौरान हापुड़ के पांच डाक्टरों सहित देशभर के लगभग 15 डाक्टरों को विशेष डिग्री भी प्रदान की जाएगी।

प्रादेशिक

हाथरस के दरिंदों को सार्वजनिक रूप से गोली मारो: कंगना रनौत

Published

on

मुंबई। उत्तर प्रदेश के हाथरस में दुष्कर्म का शिकार युवती का दिल्ली में अस्पताल में इलाज के दौरान मौत होने से पूरा देश गुस्से में है। सभी आरोपियों की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कर जल्द से जल्द फांसी देने की मांग कर रहे हैं। जहां प्रदेश में सभी विपक्ष दलों ने मामले को लेकर योगी सरकार पर जमकर हमला बोला है, वहीं इस मामले में एक्ट्रेस कंगना रनौत ने भी अपना गुस्सा जाहिर किया है.

अभिनेत्री कंगना ने ट्वीट किया, ”इन दुष्कर्मियों को सार्वजनिक रूप से गोली मार देनी चाहिए। इन सामूहिक दुष्कर्मों का क्या समाधान है, जिनकी संख्या में हर साल बढ़ोतरी हो रही है। यह इस देश के लिए कितना दुखद और शर्मनाक दिन है। हम शर्मिंदा हैं क्योंकि हम अपनी बेटियों की सुरक्षा करने में विफल रहे।

दिल्ली के अस्पताल में हुई मौत

बता दें कि हाथरस में गैंगरेप की शिकार 19 वर्षीय दलित युवती की मंगलवार को दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई। चार लोगों ने कुछ दिन पहले उसके साथ गैंगरेप किया था। गैंगरेप के बाद दलित बिटिया की जुबान काटी गई और भयानक जख्म दिए गए थे। 14 सितंबर को, पीड़िता के गर्दन में पड़े दुपट्टे से एक खेत में उसे खींचा गया, जब वह पशुओं का चारा लेने गई थी, जिससे उसकी रीढ़ की हड्डी में चोट लग गई। जब उसका गला घोंटने की कोशिश की गई तो उसने अपनी जीभ को दांतों से जोर से काटा जिससे जीभ पर गहरा जख्म हो गया।

अलीगढ़ अस्पताल में न्यूरोसर्जरी के प्रमुख फखरुल होदा ने कहा कि उसकी रीढ़ को ठीक करने के लिए सर्जरी केवल उसकी स्थिति में सुधार के बाद ही की जा सकती थी। रीढ़ की हड्डी को नुकसान स्थायी रूप से दिखाई दिया। पांच भाई-बहनों में सबसे छोटी पीड़िता कुछ समय के लिए लाइफ सपोर्ट पर भी रखी गई। पिता के कहने पर लड़की को सोमवार को दिल्ली रेफर किया गया था। उसका भाई उसे दिल्ली ले गया। अस्पताल में भर्ती होने के एक हफ्ते बाद, लड़की ने पुलिस को बताया कि उसके साथ चार लोगों ने दुष्कर्म किया था, जिसका नाम भी उसने बताया था। सभी चार आरोपियों के नाम संदीप, रामू, लवकुश और रवि हैं, जिन्हें दुष्कर्म, हत्या के प्रयास और एससी / एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया।

Continue Reading

Trending