Connect with us

प्रादेशिक

बिहार : नशे में धुत थाना प्रभारी ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तार

Published

on

बिहार : थाना प्रभारी ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तार

बिहार : थाना प्रभारी ने की महिला से छेड़खानी, गिरफ्तारकटिहार| बिहार में एक ओर जहां शराबबंदी कानून को कड़ाई से लागू करने के लिए सरकार एड़ी-चोटी का जोर लगा रही है, वहीं राज्य के कटिहार जिले में नशे में धुत एक थाना प्रभारी द्वारा एक महिला के साथ छेड़छाड़ का मामला प्रकाश में आया है। हालांकि पुलिस ने थाना प्रभारी को तत्काल गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार, कटिहार जिले के फलका थाना के प्रभारी सुनील कुमार पर आरोप है कि रविवार देर शाम गश्ती के दौरान नशे की हालत में उन्होंने बाजार में एक महिला के साथ छेड़खानी की। इसकी सूचना जब ग्रामीणों को मिली तो वे आक्रोशित हो गए और थाना प्रभारी को बंधक बना लिया।

ग्रामीणों ने थाना प्रभारी की जमकर पिटाई की तथा चप्पल-जूतों की माला पहनाई और उसे पूरे गांव में घुमाया। बाद में पुलिस अधीक्षक और अन्य थानों से पुलिस बलों के पहुंचने के बाद आरोपी थाना प्रभारी को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया जा सका।

फलका के पुलिस निरीक्षक सुनील पासवान ने सोमवार को बताया कि पीड़ित महिला के पति मोहम्मद जहांगीर के लिखित बयान के आधार पर फलका थाने में एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई और आरोपी थाना प्रभारी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक सिद्घार्थ कुमार जैन ने तत्काल प्रभाव से आरोपी थाना प्रभारी को निलंबित कर दिया है। पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है।

विदित हो कि बिहार में अप्रैल महीने से शराब पर प्रतिबंध है।

प्रादेशिक

मैदान में फुटबॉल प्रैक्टिस करा रहा था कोच, अचानक गिरी बिजली, और फिर….

Published

on

रांची। झारखंड के धनबाद में एक फुटबॉल कोच की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई। प्रैक्टिस के दौरान अचानक फुटबॉल कोच पर बिजली गिर गई जिससे वह बेहोश हो गए। आनन-फानन में उन्हें पीएमसीएच ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एक प्रशिक्षु फुटबॉलर ने बताया कि कोच अभिजीत गांगुली उर्फ सोनू दा प्रैक्टिस करवा रहे थे। इसी बीच तेज आवाज के साथ आसमानी बिजली चमकी और सभी खिलाड़ी जमीन पर लेट गए। थोड़ी देर के लिए पूरे मैदान में अंधेरा छा गया। जब सभी उठे तो देखा कि कोच गिरे पड़े हुए थे, उनका पूरा शरीर झुलसा हुआ था।

संजय ने बताया कि हादसे के बाद हम तुरंत उन्हें उठाकर इलाज के लिए असर्फी अस्पताल पहुंचे, लेकिन उनकी गंभीर हालत को देखते हुए वहां के डॉक्टरों ने उन्हें पीएमसीएच धनबाद रेफर कर दिया।

खिलाड़ियों ने अपने गुरु को पीएमसीएच ले जाने के लिए वहां एंबुलेस खोजी, लेकिन उन्हें एंबुलेंस तो खड़ी मिली लेकिन उसका ड्राइवर नदारद था। इसके बाद अभिजीत दा के शिष्य बिना समय गंवाए उन्हें अपनी स्कूटी से ही पीएमसीएच लेकर पहुंचे, लेकिन वो बच नहीं सके।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending