Connect with us

बिजनेस

सेंसेक्स में 328 अंकों की तेजी

Published

on

सेंसेक्स, 328 अंकों की तेजी, शेयर बाजार, बंबई स्टॉक एक्सचेंज, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज

सेंसेक्स, 328 अंकों की तेजी, शेयर बाजार, बंबई स्टॉक एक्सचेंज, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज

मुंबई| देश के शेयर बाजारों में मंगलवार को तेजी रही। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 328.37 अंकों की तेजी के साथ 26,007.30 पर और निफ्टी 107.60 अंकों की बढ़ोतरी के साथ 7,962.65 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 74.01 अंकों की गिरावट के साथ 25,604.92 पर खुला और 328.37 अंकों या 1.28 फीसदी तेजी के साथ 26,007.30 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 26,055.00 के ऊपरी और 25,549.05 के निचले स्तर को छुआ।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी सुबह 26.90 अंकों की कमजोरी के साथ 7,828.15 पर खुला और 107.60 अंकों या 1.37 फीसदी तेजी के साथ 7,962.65 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 7,974.50 के ऊपरी और 7,822.55 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी बढ़ोतरी देखी गई। मिडकैप 86.74 अंकों की तेजी के साथ 11,090.49 पर और स्मॉलकैप 75.51 अंकों की तेजी के साथ 11,111.11 पर बंद हुआ। बीएसई के सभी 19 सेक्टरों में तेजी रही। बैंकिंग (2.02 फीसदी), धातु (1.98 फीसदी), रियल्टी (1.93 फीसदी), वित्त (1.78 फीसदी) और वाहन (1.57 फीसदी) सेक्टरों में सर्वाधिक तजी रही।

नेशनल

खुशखबरी : अब मुफ्त बनेगा किसान क्रेडिट कार्ड, 4 फीसदी पर 3 लाख का लोन

Published

on

By

केंद्र सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए एक बड़ा कदम उठाया है। खेती-किसानी के लिए केवल 4 प्रतिशत ब्याज दर पर पैसा देने के लिए जो किसान क्रेडिट कार्ड बनता है, उसे बनवाने के लिए लगने वाली सारी प्रोसेसिंग फीस, इंस्पेक्शन और लेजर फोलियो चार्ज को अब खत्म कर दिया जा रहा है।

यदि किसी बैंक द्वारा अब किसी किसान से ये चार्ज वसूला जाता है तो उस पर कार्रवाई की जा सकती है। इसमें 3 लाख रुपए तक का लोन दिया जाता है। पहले बिना गारंटी के 1 लाख का लोन मिलता था जिसे बढ़ाकर अब 1.60 लाख रुपए कर दिया गया।

जाने किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में

यदि आपके पास खेती करने के लिए ज़मीन है तो अपनी जमीन को बिना गिरवी रखे बिना लोन लिया जा सकता है। इसकी सीमा एक लाख रुपए थी। अब आरबीआई ने बिना गारंटी वाले कृषि लोन की सीमा 1.60 लाख  रुपए कर दी है।

पशुपालन और मछलीपालन वाले किसानों को भी अब केसीसी के माध्यम से 2 लाख रुपए प्रति किसान की सीमा तक 4 प्रतिशत की ब्याज दर पर लाभ दिया जाएगा, जिससे किसानों को साहूकारों से छुटकारा मिल जाए।

इस समय देश में 7,02,93,075 किसानों के पास केसीसी है। केसीसी के अंतर्गत ज्यादा से ज्यादा संख्या में किसानों को लाने के लिए सरकार ने बैंकों के सहयोग से किसानों के केसीसी बनाने के एक अभियान की शुरूआत की है। इसमें आवेदन सरल किया गया है और फार्म मिलने की तारीख से 14 दिनों के भीतर केसीसी जारी करने का आदेश शामिल है।

जानिए आखिर कैसे 4 प्रतिशत की दर से मिलता है कृषि लोन

खेती-किसानी के लिए ब्याजदर वैसे तो 9 प्रतिशत है। लेकिन सरकार इसमें 2 प्रतिशत सब्सिडी देती है. इस प्रकार यह 7 प्रतिशत पड़ता है। लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 प्रतिशत और छूट मिल जाती है।

इस तरह इसकी दर ईमानदार किसानों के लिए सिर्फ 4 फीसदी रह जाती है। कोई भी साहूकार इतनी सस्ती दर पर किसी को कर्ज नहीं दे सकता। इसलिए यदि आपको खेती-किसानी के लिए लोन लेना है तो बैंक जाएं और किसान क्रेडिट कार्ड बनवाइए। इसके जरिए आप 3 लाख रुपए तक का लोन आसानी से ले सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending