Connect with us

मुख्य समाचार

श्रीनगर में प्रदर्शन रोकने के लिए विभिन्न जगहों पर प्रतिबंध

Published

on

श्रीनगर में प्रदर्शन रोकने के लिए विभिन्न जगहों पर प्रतिबंध

श्रीनगर में प्रदर्शन रोकने के लिए विभिन्न जगहों पर प्रतिबंध

श्रीनगर| जम्मू एवं कश्मीर के हंदवाड़ा जिले में एक स्कूली छात्रा के साथ कथित छेड़छाड़ के विरोध में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में चार लोगों की मौत के बाद शुक्रवार को अलगाववादियों की ओर से आहूत प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने श्रीनगर तथा कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के विभिन्न हिस्सों में प्रतिबंध लगा दिए हैं। श्रीनगर के जिलाधिकारी फारूक अहमतद लोन ने कहा, “कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए शुक्रवार को श्रीनगर शहर के सात पुलिस थानों के अंतर्गत आने वाले इलाकों में प्रतिबंध रहेगा।”

जिन इलाकों में प्रतिबंध लगाए गए हैं, वो रैनावाड़ी, खानयार, नौहट्टा, एम.आर. गुंज, सफा कदाल, क्रालखुद तथा मैसुमा पुलिस थानों के अंतर्गत आते हैं।

कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा तथा कुपवाड़ा शहर और दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा शहर में भी प्रतिबंध लगाए गए हैं।

संवेदनशील इलाकों तथा अन्य जिला मुख्यालयों में पुलिसबल तथा केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई है।

ये प्रतिबंध कुपवाड़ा जिले में सुरक्षाबलों की गोलीबारी में चार लोगों की मौत के बाद अलगाववादी नेताओं सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक तथा मुहम्मद यासीन मलिक द्वारा प्रदर्शन व बंद के आह्वान को देखते हुए लगाए गए हैं।

मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती गुरुवार को यहां पहुंचीं। उन्होंने सुरक्षा बलों को भीड़ नियंत्रण के दौरान एसओपी (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रॉसीड्योर) का सख्ती से पालन करने के लिए कहा, ताकि इस प्रक्रिया में किसी नागरिक को नुकसान न हो।

नेशनल

वाराणसी के गैर सरकारी संगठनों से पीएम ने की सीधी बात, पूछा हालचाल

Published

on

By

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से बातचीत कर रहे हैं। इस बैठक में वो कोरोना वायरस संकट के कारण लागू लॉकडाउन के दौरान उनकी तरफ खाद्यान्न वितरण एवं अन्य सहायता पहुंचाने संबंधी प्रयासों के बारे में चर्चा कर रहे हैं।

स्पेशल रिपोर्ट : मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार हुआ आठ पुलिस वालों का हत्यारा विकास दुबे

उन्होंने कहा कि हजारों लोगों ने काशी के गौरव को बढ़ाया है। सैकड़ों संस्थाओं ने अपने आप को खपा दिया है। सबसे मैं बात नहीं कर पाया हूं, लेकिन मैं हर किसी के काम को आज नमन करता हूं। सेवाभाव से जुड़े हुए हर व्यक्ति को मैं प्रणाम करता हूं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  ने कहा आज जब मैं आपसे बात कर रहा हूं, तब आपसे केवल जानकारी नहीं ले रहा हूं, बल्कि आप सबसे प्रेरणा ले रहा हूं। अधिक काम करने के लिए, आप जैसे लोगों ने इस संकट में काम किया, इनके आशीर्वाद ले रहा हूं।

कोरोना के इस संकट काल ने दुनिया के सोचने-समझने, काम-काज करने, खाने-पीने सबके तौर-तरीके पूरी तरह से बदल दिए हैं। जिस प्रकार से आपने सब ने सेवा की, इस सेवा का समाज जीवन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है।

कबीरदास जी ने कहा है- ‘सेवक फल मांगे नहीं, सेब करे दिन रात’ अर्थात – सेवा करने वाला सेवा का फल नहीं मांगता, दिन रात निःस्वार्थ भाव से सेवा करता है। दूसरों की निस्वार्थ सेवा के हमारे यही संस्कार हैं, जो इस मुश्किल समय में काम आ रहें हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा।

#Narendramodi #varanasi #pmmodi #Uttarpradesh

 

Continue Reading

Trending