Connect with us

मुख्य समाचार

कांग्रेस के आरोपों पर रामदेव का पलटवार

Published

on

उत्तराखंड का वर्तमान सियासी संकट, योगगुरु स्वामी रामदेव और अमित शाह ने की सरकार गिराने की साजिश

उत्तराखंड का वर्तमान सियासी संकट, योगगुरु स्वामी रामदेव और अमित शाह ने की सरकार गिराने की साजिश

देहरादून। उत्तराखंड में चल रहे वर्तमान सियासी संकट के बीच कांगे्रस की ओर से योगगुरु स्वामी रामदेव पर बागी विधायकों को उकसाने के आरोपों का खंडन करते हुए स्वामी रामदेव ने कहा कि प्रदेश के मौजूदा सियासी हालात के लिए उनकी बजाय राजनीतिक दलों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने अखबारों में पढ़ा कि रामदेव और अमित शाह ने मिलकर उत्तराखंड सरकार को गिराने की साजिश रची है। योगगुरु ने कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी किसी कांग्रेसी विधायक या पार्टी कार्यकर्ता से इस बारे में कोई बात नहीं की। हम जो भी करते हैं खुलकर करते हैं पीठ पीछे कुछ नहीं करते।

उत्तराखंड का सियासी संकट

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कल यह आरोप लगाकर कहकर सियासी हलकों में हलचल पैदा कर दी कि योग गुरू और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एक साथ मिलकर राज्य सरकार को गिराने की साजिश रची और कांग्रेस विधायकों द्वारा हरीश रावत सरकार के खिलाफ बगावत इसी का नतीजा है। अपने आरोप के समर्थन में पुख्ता सबूत होने का दावा करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘रामदेव कांग्रेस के बागी विधायकों के संपर्क में थे और सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के खिलाफ साजिश रचने में भाजपा अध्यक्ष के अलावा वह भी एक अहम व्यक्ति थे। राज्य सरकार के खिलाफ बगावत करवाने और उसे गिराने का प्रयास करने में बाबा रामदेव ने एक भाजपा एजेंट के तौर पर काम किया। उन्होंने यह भी दावा किया कि राज्य विधानसभा में 18 मार्च को सामने आयी इस बगावत से पहले से ही बाबा रामदेव बागी विधायकों के संपर्क में थे।

हांलांकि, इस संबंध में कुछ समाचार पत्रों में छपी खबरों के आधार पर रामदेव ने कहा कि राज्य में जारी राजनीतिक संकट में उनका नाम बेवजह घसीटा जा रहा है जबकि उनका इससे कुछ लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘इस मामले में हमारी कोई भूमिका नहीं है। कांगे्रस को अपना कुनबा संभालना सीखना चाहिए। राजनीतिक घटनाओं के लिये राजनीतिक दलों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिये।’ रामदेव के इस बयान पर प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी ने कहा कि योग गुरू चाहे जो भी स्पष्टीकरण दें, वह उत्तराखंड में राजनीतिक संकट में अपनी भूमिका के आरोप से छूट नहीं सकते।

जोशी ने कहा, ‘योग गुरू का उत्तराखंड में करीब 2000 करोड रुपये का कारोबारी साम्राज्य है और उनके ट्रस्ट के खिलाफ कई मामलों में जांच चल रही है। उन्हें राज्य सरकार से कई बदले लेने हैं। रामदेव और शीर्ष भाजपा नेतृत्व की इस राजनीतिक संकट में भूमिका सीधी है।’ गौरतलब है कि विजय बहुगुणा कार्यकाल के समय में रामदेव के पतंजलि ट्रस्ट के खिलाफ जमींदारी उन्मूलन और भूमि सुधार अधिनियम तथा भारतीय स्टैंप एक्ट के तहत करीब 81 मामले दर्ज किये गये थे।

मनोरंजन

10 साल की बच्ची की सिंगिंग के फैन हुए अंग्रेज, एआर रहमान भी हुए इंप्रेस

Published

on

नई दिल्ली। 10 साल की सोपरनिका नायर की सिंगिंग की चर्चा अब हर ओर हो रही है। ब्रिटेन गॉट टैलेंट में हिस्सा लेने वाली सोपरनिका का टैलेंट देखकर लोग हैरान हैं।

भारत के मशहूर संगीतकार और ऑस्कर विजेता ए.आर रहमान भी उनकी गायकी से काफी प्रभावित हुए हैं। रहमान ने इस वीडियो को अपने ट्विटर पर भी शेयर की है और सोपनिका की काफी सराहना भी की है।

एआर रहमान ने अपने ट्विटर पर यूट्यूब का एक लिंक साझा किया है। सोपरनिका के इस वीडियो को शेयर करते हुए रहमान ने लिखा, ‘”Nice to wake up to this.’

बता दें कि इस ऑडिशन में सोपरनिका ने द ट्रोली सॉन्ग गाया था, लेकिन जज Simon Cowell ने उन्हें बीच में ही रोक दिया। उन्होंने सोपरनिका ने Never Enough सॉन्ग गाने के लिए कहा। दरअसल वह सोपरनिका की आवाज को अलग पैमाने पर जांचना चाहते थे। जब सोपरनिका ने ये सॉन्ग शुरू किया तो ऑडियन्स ने पहले ही तालियां बजानी शुरू कर दी।

सोपरनिका का दूसरा गाना सभी जजेज़ को पसंद आया और उन्होंने खड़े होकर उनके लिए तालियां भी बजाई। परफोर्मेंस के बाद जज डेविड विलियम्स ने कहा, ‘ये सॉन्ग का पहाड़ है और आपने इसे जीत लिया है।’

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending