Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

उत्तरी सोमालिया में अल शहाब के 70 आतंकवादी मारे गए

Published

on

सोमालिया, अल शबाब के 70 आतंकवादी ढेर, अफ्रीकी संघ शांति मिशन

सोमालिया, अल शबाब के 70 आतंकवादी ढेर, अफ्रीकी संघ शांति मिशन

मोगादिशू। सोमालिया के पंटलैंड सुरक्षा बलों के हाथों पिछले चार दिनों में अल शहाब के कम से कम 70 आतंकवादी मारे गए हैं और 30 पकड़े गए हैं। अधिकारियों ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।  पंटलैंड के सूचना मंत्री मोहम्मद हसन ने बताया कि उत्तरी सोमालिया के नूगल क्षेत्र के सूज घाटी में सैनिकों की आतंकवादियों से लड़ाई हुई और सरकारी बलों ने उन पर काबू पा लिया। हसन ने कहा, “हमने अल शहाब के 70 आतंकवादियों को मार गिराया। इसके अलावा हमने 30 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया। यह आतंकवादी समूह पर हमारी सेनाओं की जीत है।” उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में 500 से ज्यादा आतंकवादी है जिन्हें पंटलैंड के सैनिकों ने घेर लिया है। जो आतंकवादी निकल भागने में सफल हो रहे हैं, उनका पीछा किया जा रहा है। अल शहाब आतंकवादी समूह ने इस पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। दक्षिणी सोमालिया में पिछले हफ्ते केन्याई सैनिकों ने 50 आतंकवादियों को मार गिराया था।

अन्तर्राष्ट्रीय

पाकिस्तान में आर्मी-पुलिस आमने-सामने, गृह युद्ध जैसे हालात

Published

on

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में इस समय गृह युद्ध जैसे हालात बने हुए हैं। यहां इमरान सरकार के खिलाफ पूरा विपक्ष एकजुट है। इमरान के खिलाफ बड़ी-बड़ी सभाएं हो रही हैं। इसी बीच पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के दामाद मोहम्मद सफदर को सेना द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि उन्हें कुछ देर बाद छोड़ दिया गया था। हालांकि सिंध पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं थी। साथ ही गिरफ्तारी के दौरान सिंध पुलिस प्रमुख को कहीं घेर लिया गया था।

पाकिस्तानी सेना के इस कृत्य के बाद सिंध पुलिस और पाकिस्तानी सेना आमने सामने है। सिंध पुलिस ने कई बड़े अधिकारियों ने सेना से नाराज होकर छुट्टी पर जाने का फैसला कर लिया है। बता दें कि बीते कल नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने आरोप लगाया था कि उनके होटल के कमरे में घुसकर उनके पति को गिरफ्तार कर ले जाया गया। हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया। इसके बाद बैकफुट पर आए पाकिस्तानी आर्मी चीफ बाजवा ने आदेश दिया है कि आखिर यह गिरफ्तारी क्यों की गई इसकी जांच की जाए। लेकिन मामला यहीं तक नहीं थमा है। इसके बाद पाकिस्तान के सिंध प्रांत की पुलिस और पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के बीच अब विवाद शुरू हो चुका है।

सिंध पुलिस का इस मामले पर कहना है कि सफदर को उनकी जानकारी के बगैर गिरफ्तार किया गया था। उसकी गिरफ्तारी के दौरान सिंध पुलिस प्रमुख को कहीं घेर लिया गया था। इसके बाद पाक सेना ने ही सफदर को गिरफ्तार किया था। बता दें कि पुलिस की सेना से नाराजगी के बाद पुलिस अधिकारी व पुलिस कर्मचारी छुट्टी पर जाने लगे हैं. सिंध पुलिस के आईजी ने भी छुट्टी पर जाने का ऐलान किया। साथ ही हजारों पुलिस कर्मचारी भी छुट्टी पर चले गए हैं।

Continue Reading

Trending