Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

रूस नुक़सान पहुंचाने वाली गतिविधियों में शामिल ना हो अन्यथा उसे मज़बूत और सार्थक परिणाम भुगतने होंगे: बाइडेन

Published

on

बाइडेन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को चेतावनी देते हुए कहा कि वह नुक़सान पहुंचाने वाली गतिविधियों में शामिल ना हो, ऐसा होने पर उसे इसके परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। अमेरिका के मित्र देशों के साथ ट्रंप प्रशासन के तनावपूर्ण रिश्तों के बाद बाइडन ने ये भी स्पष्ट किया है कि उनका इरादा देशों के साथ मज़बूत रिश्ते रखने का है।

बाइडन जी7 देशों के शिखर सम्मेलन के लिए बुधवार को ब्रिटेन पहुंचे हैं. सम्मेलन के दौरान वो नए “अटलांटिक चार्टर” पर चर्चा करने के लिए ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से मुलाक़ात करेंगे। ये एक तरह से साल 1941 में विंस्टन चर्चिल और फ्रैंकलिन रूज़वेल्ट के बीच हुए समझौते का आधुनिक संस्करण होगा जिसमें जलवायु परिवर्तन और सुरक्षा जैसी चुनौतियों को भी तवज्जो दी जाएगी।

बीबीसी के राजनीतिक मामलों की संपादक लॉरा कुएन्सबर्ग कहती हैं कि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कार्यकाल के दौरान तनावपूर्ण रिश्तों और फिर कोरोना महामारी के कारण पैदा हुए हालात के बाद अब दोनों देश अपने रिश्तों को नए सिरे से ताज़ा करना चाहते हैं। अपने आठ दिन के यूरोपीय दौरे में बाइडन विंडसर कासल में ब्रिटेन की महारानी से मुलाक़ात करेंगे, जी7 देशों के नेताओं की बैठक में हिस्सा लेंगे और बतौर अमेरिकी राष्ट्रपति नैटो के सम्मेलन में शिरकत करेंगे।

अपने दौरे के आख़िरी चरण में बाइडन जिनेवा में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से भी मुलाक़ात करेंगे। व्हाइट हाउस ने स्पष्ट किया है कि रूसी राष्ट्रपति से मुलाक़ात के दौरान बाइडन हथियारों पर लगाम लगाने, जलवायु परिवर्तन, यूक्रेन में रूसी सेना के दखल, रूसी साइबर हैकिंग गतिविधियों और रूसी विपक्षी नेता एलेक्सी नवेलनी को जेल भेजे जाने समेत “और कई अहम मुद्दों पर” बात करेंगे।

 

 

Continue Reading

अन्तर्राष्ट्रीय

करोड़ो में बिकती है ये मछली, 50 दिनों तक मुंह में सेती है अंडे

Published

on

नई दिल्ली। दक्षिण अमेरिका के ओयापॉक और रूपुनुनी नदियों में एरोवाना मछलियां पायी जाती हैं। ये मछलियां कम सतही पानी और दलदलों के पास पाई जाती हैं। एरोवाना मछलियां पानी की सतह के करीब तैरना पसंद करती हैं।

एरोवाना मुख्य रूप से मीठे पानी में पायी जाती हैं क्योंकि खारे पानी में उनकी सहनशीलता कम होती है। फेंग सुई के हिसाब से एरोवाना को घर में रखने से तरक्की होती है और पैसे भी आते हैं।

एरोवाना मछलियों के कुछ रोचक बातें

एरोवाना नर मछली 50 दिनों तक अंडो को मुंह में रख सकती है और तभी उन्हें बाहर निकालती है जब वह थोड़े बड़े हो जाते हैं। ये मछली ताकतवर और साहसी होती हैं और 20 साल तक जीवित रह सकती हैं।

यह मछली 120 सेंटीमीटर तक बढ़ती हैं और वजन में लगभग 5 किलो तक होती हैं। सामान्य परिस्थितियों में यह मछली 1 करोड़ की बिकती हैं, लेकिन ब्लैक मार्केट में इसे दो करोड़ से ज्यादा की कीमत पर बेंचा जाता हैं। यह मछली मांसाहारी होती हैं और 5 फिट तक ऊपर कूद सकती हैं।

Continue Reading

Trending