RESPECT GIRLS: लड़कियों का उड़ता दुपट्टा हो या खिसकती जींस, ताकें न ‘PLEASE’

ओह! लड़की का दुपट्टा उड़ रहा है नहीं नहीं लड़की के तन पर पडें कपडें थोड़े से खिसक गए है शिट! लड़की है या सेंसलेस आइटम।

अब आप सोच रहे होंगे हम ऐसा क्यों बोल रहे है क्या बताएं क्यों बोल रहे है। ये तो स्वत: चिंतनशील योग्य बात है और अगर आप अब तक समझ नहीं पा रहे है तो आपकी मुर्खता।

दरअसल, आजकल सोशल मीडिया पर एक ट्रेंड ‘मी टू’ बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। इस पर लडकियां अपने साथ हुई दर्दनाक वाकये को बयां कर रही है।

Image result for GIRLS

इस ट्रेंड में अब तक कई लडकियां अपने साथ हुए कई गलत वाकये और यौन शोषण जैसी घटनाओं का जिक्र कर चुकी है।

मी टू पर लड़कियों के लगातार बढ़ रहे वाकयों का जिक्र देश में महिलाओं के प्रति आए दिन हो रहे अपराधों का साफ़ जिक्र करती है।

सवाल ये उठता है कि आखिर कब वो दिन आएगा जब महिलाएं सड़कों पर रातों के अंधरों में भी खुद को सहज और सुरक्षित महसूस करेंगी इतना ही नहीं बल्कि ऐसा कब होगा, जब सड़क पर चलते हुए लड़की का उड़ता दुप्पट्टा या खिसकती जीन्स लोगों की आँखों में चुभना बंद हो जाएगी।

Image result for GIRLS

लड़कियों के छोटे कपडें लड़कों या पुरषों को आमंत्रित करने के सिग्नल होते है। ऐसी मानसिकता रखने वालों को पहले अपनी सोच को बड़ा करना चाहिए।

ऐसा किस किताब में लिखा है कि हमारे देश की औरतों, लड़कियों को सम्मान देने का दिन सिर्फ 8 मार्च यानी की ‘इंटरनेशनल विमेंस डे’ वाले दिन ही होता है?

Image result for GIRLS

इसीलिए किसी भी लड़की को उसके कपड़ों के सेंस की वजह से ताकने से पहले न भूले एक मां, बहन, बेटी आप के घर भी है, तो महिलाओं की इज्जत करना सीखें।

इस खबर का मकसद आपको सिर्फ एक मेसेज देना था। इसका किसी की व्यक्तित्व जिंदगी से कोई वास्ता नहीं है।

loading...
=>