पीरियड, माहवारी, मां, यूट्यूब, वीडियो

9 साल के लड़के ने चुराया मां का सैनिटरी पैड, फि‍र देखिए क्या हुआ

सैनिटरी पैड दिखाते हुए इस लड़के ने दोस्‍तों से पूछा–यह क्‍या हैं

नई दिल्ली। यूट्यूब पर जारी वीडियो, द पैड : ए पीरियड ड्रामा में अपनी ऑन-स्क्रीन मां के साथ माहवारी यानी पीरियड पर बात करता हुए 9 साल का आदित्य डिसूजा इंटरनेट पर छा गया है। पीरियड के बारे में जागरूकता फैलाने के मकसद से तैयार किए गए इस वीडियो को काफी पसंद किया जा
रहा है।

पीरियड या माहवारी के विषय पर जागरुकता फैलाने के उद्दशेय से जितने भी वीडियो बनाए जाते हैं उनमें सामान्यत: किसी किशोरी को लिया जाता है जो अपनी मां से पीरियड और उससे निपटने को लेकर कई सवाल पूछा करती है।

लेकिन इस वीडियो में स्‍थापित परंपरा को तोड़ते हुए 9 साल के लड़के आदित्य डिसूजा को लिया गया है, जो अपनी मां के साथ पीरियड पर खुलकर जानकारी हासिल करता है।

मुंबई के खार इलाके में रहने वाले आदित्य के मासूमियत भरे लहजे ने लाखों दर्शकों को प्रभावित किया है। ‘द पैड : ए पीरियड ड्रामा’ में परंपरा के विपरीत एक मां अपने 9 साल के बेटे से पीरियड के विषय पर बात करती है।

यह भी पढ़ें– मॉडल इतनी सेक्‍सी कि निकल जाए सिसकारी, सरकार ने लगाया बैन

इस वीडियो की शुरुआत होती है आदित्य के हाथ में एक सैनिटरी पैड से। इसे उसने अपनी मां की अलमारी से चुराया है। यह लड़का अपने घर आए दोस्तों को पैड दिखाते हुए पूछता है कि, ‘तुम लोगों को पता है यह क्या है? ‘

इसके बाद आदित्य इसे लेकर कुछ मजाक करता है। आदित्य की मां यह सब सुन रही होती है। उसके बाद वो अपने बेटे के साथ इस विषय पर बात करने का फैसला लेती है।

आदित्य को इस रोल को करने के लिए पीछे उसके माता-पिता का भी काफी हाथ है। आदित्य के पिता ने बताया, ‘वीडियो में काम करने से पहले आदित्य को पीरियड के बारे में कुछ भी नहीं पता था।

मेरी पत्नी जया और मैंने आदित्य से इस बारे में बात करने का फैसला लिया। हमने उसे कई डायाग्राम की मदद से पीरियड के बारे में समझाया और बताया कि यह कोई छुपाने वाली बात नहीं है।’

इस वीडियो को आईआईटी मुंबई से पढ़ाई करने वाले गगनजीत सिंह (26)  ने बनाया है। यूट्यूब पर इस वीडियो को हजारों लोग देख चुके हैं। साथ ही इस वीडियो को फेसबुक पर भी खूब पसंद और शेयर किया जा रहा है। गगनजीत ने बताया कि यह वीडियो बच्चों और अभिभावकों, दोनों को जागरुक करने के म‍कसद से बनाया गया है। हम चाहते है कि हमारे समाज में पीरियड को लेकर जो रूढि़वाद है, वह खत्म हो।

loading...
=>