अगर आप के भी बच्चे सोते समय लगाते है तकिया तो फ़ौरन छीने, जानें क्यूं?

कई बार बड़े-बुजुर्ग को आपने ऐसा कहते सुना होगा कि बच्चे के सिर के नीचे से तकिया हटा लो क्या आप जानते है कि वे हमसे ऐसा क्यूँ कहते है? कि छोटे बच्चों को तकिया नहीं लगाना चाहिए दरअसल इसके पीछे कुछ वजहें छिपी है। आइये जानते है क्या है वो वजह-

आइए जानते हैं  पर क्यों नहीं सुलाने के क्या नुकसान होते हैं…

  1. बच्चों का शरीर नाजुक होता है इसलिए तकिया लगाने से उनकी सांस नली के अंदर से मुड़कर दब सकती है।
  2. तकिया को लगाने से बच्‍चे में अचानक शिशु मृत्‍यु सिंड्रोम हो सकता है।
  3. फैंसी तकिए गर्म होते हैं और कई बार यह जानलेवा भी हो सकते  है।
  4. तकिए लगाने से बच्चे की गर्दन मुड़ने का डर रहता है. बच्‍चों के गले की हड्डी बहुत नाजुक होती है. ऐसे में तकिया लगाना, इस समस्‍या को पैदा कर सकता है।
  5. अकसर देखा गया है कि कई बच्चों के बच्‍चे को तकिया लगाने से उसका क्‍योंकि उसे सिर पर लगातार प्रेशर पड़ता रहता है।

जानें क्यूँ तकिया बच्चों के लिए है हानिकारक

छोटे बच्चों की कोमल त्वचा और नाजुक शरीर की देखभाल करने के लिए हमेशा से ही उनके कपड़ों से लेकर उनके खि‍लौनों तक बहुत ख्याल रखा जाता रहा है। अधि‍कतर देखा गया है कि नवजात शि‍शु को माएं सुलाने के बाद तकिए पर उन्हें लिटा देती हैं लेकिन ऐसा करना उनके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह हो सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि आप छोटे बच्चों को बिस्‍तर पर सीधे ही सुलाएं।

आइए जानते हैं बच्चों को तकिए पर क्यों नहीं सुलाने के क्या नुकसान होते हैं…

  1. बच्चों का शरीर नाजुक होता है इसलिए तकिया लगाने से उनकी सांस नली अंदर से मुड़कर दब सकती है।
  2. तकिया को लगाने से बच्‍चे में अचानक शिशु मृत्‍यु सिंड्रोम हो सकता है।
  3. फैंसी तकिए गर्म होते हैं और यह सिर में गर्मी पैदा कर सकते हैं और यह कई बार यह जानलेवा भी हो सकता है।
  4. तकिए लगाने से बच्चे की गर्दन मुड़ने का डर रहता है। बच्‍चों के गले की हड्डी बहुत नाजुक होती है। ऐसे में तकिया लगाना, इस समस्‍या को पैदा कर सकता है।
  5. अकसर देखा गया है कि कई बच्चों के बच्‍चे को तकिया लगाने से उसका सिर फ्लैट हो सकता है, क्‍योंकि उसे सिर पर लगातार प्रेशर पड़ता रहता है।

 

loading...
=>