उप्र : बच्चों की मौत का जायजा लेने स्वास्थ्य मंत्री गोरखपुर रवाना

लखनऊ, 12 अगस्त (आईएएनएस)| मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के एक अस्पताल में पिछले दो दिनों में 30 से भी अधिक बच्चों की मौत की घटना का जायजा लेने के लिए राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन को शनिवार को रवाना किया। मंत्रियों को साथ ही इस मामले में ‘किसी को भी न बख्शने’ की सख्त हिदायत भी दी गई है।

एक अधिकारी ने कहा कि आदित्यनाथ इस त्रासदी को लेकर अत्यधिक नाराज हैं और उन्होंने दोनों मंत्रियों को सरकारी अस्पताल में स्थिति की जायजा लेने और मामले के लिए जिम्मेदार लोगों के प्रति कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में पिछले पांच दिनों में एंसेफेलाइटिस के कारण 60 से भी अधिक बच्चों की मौत हो गई। बताया जाता है कि उनके वार्ड में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं थी।

इस घटना को लेकर विपक्ष की कड़ी आलोचना पर सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि इसे राजनीतिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए।

कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद यूपीसीसी अध्यक्ष राज बब्बर और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल शनिवार को बीआरडी मेडिकल कॉलेज का दौरा कर सकता है।

अधिकारियों के मुताबिक, मंत्री अपने दौरे में त्रासदी के कारणों पर विस्तृत रिपोर्ट तैयार करेंगे।

दोनों मंत्रियों ने गोरखपुर रवाना होने से पूर्व आदित्यनाथ से मुलाकात की।

हालांकि आदित्यनाथ के कार्यालय की ओर से कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है, लेकिन सूत्रों से पता चला है कि वह स्थिति पर पूरी नजर रखे हुए हैं।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने घटना के लिए राज्य की भाजपा सरकार की निंदा करते हुए स्वास्थ्य मंत्री और संबंधित अधिकारियों की बर्खास्तगी की मांग की है।

आप के राज्य प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने आईएएनएस से कहा, यह बेहद शर्म की बात है कि मुख्यमंत्री इतने गंभीर मुद्दे पर मौन हैं और राज्य सरकार सच को छिपाने का प्रयास कर रही है।

loading...
=>