कबड्डी विश्व कप : लगातार चौथी जीत के साथ भारत सेमीफाइनल में

कबड्डी विश्व कपअहमदाबाद,  दो बार के एशियाई और दो बार के विश्व चैम्पियन भारत ने मंगलवार को अपने अंतिम ग्रुप मैच में इंग्लैंड को 51 अंकों के अंतर से हराकर यहां जारी कबड्डी विश्व कप-2016 के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है। भारत ने इंग्लैंड को 69-18 से हराकर द एरेना बाय ट्रांसस्टेडिया में जारी ग्रुप-बी से सेमीफाइनल का टिकट कटाया है। इस ग्रुप से दक्षिण कोरिया शीर्ष पर पर रहते हुए सेमीफाइनल में पहुंची है। भारत को पांच मैचों से सिर्फ एक में हार मिली है और वह कोरिया के खिलाफ मिली थी। सेमीफाइनल मुकाबले 21 अक्टूबर को होने हैं।

इंग्लैंड के साथ होने वाले इस मैच में भारत की जीत को लेकर किसी के मन में कोई शंका नहीं थी। भारत ने हालांकि कोरिया के हाथों पहले ही मैच में मिली चौंकाने वाली हार के बाद किसी भी टीम को कमतर आंकना बंद कर दिया है और इस मैच के लिए भी जोरदार तैयारी की थी। इस मैच को देखने पहुंचे लगभग 3,000 दर्शकों को टीम ने निराश नहीं किया और पहले हाफ में 45-6 के स्कोर के साथ भारी बढ़त ले ही। पहले हाफ में भारत ने इंग्लैंड को चार बार ऑल आउट किया।

भारत ने पहले हाफ में कबड्डी विश्व कप में अब तक सबसे अधिक रेड अंक (47) जुटाने वाले इंग्लैंड के टोपे एडेवाल्यूर को कोई मौका नहीं दिया। दूसरी ओर, जैसी उम्मीद थी पहले हाफ में भारत की ओर से प्रदीप नरवाल (11 अंक), अजय ठाकुर (9 अंक) और संदीप नरवाल (7 अंक) ने चमकदार खेल दिखाया। दूसरे हाफ में भारत ने अपने कई खिलाड़ियों को बदला। कप्तान अनूप कुमार, मंजीत चिल्लर और धर्मराज चेरालथन बाहर चले गए। पहले हाफ में खेल का हिस्सा रहे संदीप और अजय ने ही दूसरे हाफ में पाला बदला। जो बाहर गए, उनके स्थान पर सुरेंद्र नड्डा, नितिन तोमर, सुरजीत, राहुल चौधरी, मोहित चिल्लर ने मैट पर कदम रखा।

इस हाफ में भी भारत ने सबसे अधिक अंक रेड से जुटाए। दूसरे हाफ में भारत ने एक टैकल के माध्यम से इंग्लैंड को पांचवीं बार ऑल आउट किया। भारतीच रेडरों का इस कदर वर्चस्व रहा कि इंग्लैड की टीम टैकल से एक-एक अंक जुटा सकी। भारत ने रेड से कुल 43, टैकल से 12 और ऑल आउट से 10 अंक बनाए। इसके अलावा उसे चार अतिरिक्त अंक मिले। दूसरे हाफ में प्रदीप को रेड का अधिक मौका नहीं मिला। इस हाफ मे उनके खाते में दो रेड अंक आए। इसी तरह अजय ने भी इस हाफ में दो अंक जोड़े। इस हाफ में नितिन ने सात, राहुल ने पांच और सुरेंद्र ने तीन अंक बनाए। इससे पहले, मंगलवार को खेले गए पहले मैच में केन्या ने अमेरिका को 74-19 से हराकर अपने सेमीफाइनल में पहुचने की उम्मीदों को कायम रखा है।

केन्याई टीम ने हालांकि अपना कर्म कर दिया है लेकिन अब उन्हें किस्मत के भरोसे रहना होगा। बुधवार को अगर जापान की टीम थाईलैंड को सात सा उससे अधिक अंकों के अंतर से हरा देती है तो केन्या को सेमीफाइनल खेलने का मौका मिल जाएगा। थाईलैंड पर जीत की स्थिति में जापान के 16 अंक हो जाएंगे। केन्या के भी 16 अंक हैं। एसे में यह देखा जाएगा कि किस टीम ने ग्रुप स्तर ज्यादा अंक अर्जित किए हैं। एसे में उसे अंतिम-4 दौर मुकाबले में सम्भवत: दक्षिण कोरिया से भिड़ने का मौका मिल जाएगा। कोरियाई टीम ग्रुप-ए में पहले स्थान पर है।

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com