मोसुल को आईएस से मुक्त कराने के लिए सैन्य अभियान शुरू

मोसुलबगदाद, इराकी प्रधानमंत्री हैदर अल-आब्दी ने मोसुल को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से मुक्त कराने के लिए सोमवार से सैन्य अभियान शुरू करने की घोषणा की। सुन्नी बाहुल्य मोसुल, इराक का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, सोमवार को राज्य टेलीविजन पर अपने संबोधन के दौरान आब्दी ने कहा, “विजय का समय आ गया है, मोसुल को आजाद कराने के लिए अभियान शुरू कर दिया गया है। ”

उन्होंने कहा, “आज मैं आपको आईएस से आजाद करने वाले इस वीरतापूर्ण अभियान की शुरुआत की घोषणा करता हूं।”

उन्होंने कहा, “इंशाअल्लाह, हम मोसुल में आजादी और आईएस से आपकी मुक्ति का जश्न मनाने के लिए मिलेंगे, जिससे हम सभी एक बार फिर साथ रह सकेंगे। सभी धर्म एकजुट हैं, हम एकसाथ मिलकर फिर से अपने प्यारे शहर मोसुल को बनाएंगे।”

वरिष्ठ इराकी अधिकारियों के बीच उन्होंने कहा कि सिर्फ सरकारी बल ही सुन्नियों की बहुसंख्या वाले शहर मोसुल में प्रवेश करेंगे।

इराकी सरकार, कुर्द पेशमर्गा और सरकार से संबद्ध बलों द्वारा इस लंबे समय से प्रतीक्षित हमले को आईएस से लड़ने वाले अमेरिकी अगुवाई वाले गठबंधन का समर्थन प्राप्त है। मोसुल पर आईएस का जून 2014 से कब्जा है।

loading...