फिर राम भरोसे यूपी की सियासत!

GOd ramनई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के पहले राजनीतिक दलों को एक बार फिर भगवान राम की याद आ गई है। खास बात यह है कि इस बार मुहिम में भाजपा के साथ सपा भी कूदी है। केंद्र सरकार जहां अयोध्या में रामायण संग्राहलय बनाने जा रही है वहीं राज्य सरकार ने अयोध्या के रामलीला संकुल में थीम पार्क बनाने की मंजूरी दे दी है।

मंगलवार को केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा अयोध्या आकर रामायण संग्रहालय की घोषणा करेंगे। वैसे रामायण संग्रहालय राम सर्किट का एक हिस्सा है जिसकी घोषणा काफी पहले केंद्र सरकार ने की थी लेकिन शर्मा को इसकी याद अब चुनावी माहौल में आई है।

इस मुद्दे पर भाजपा बढ़त न हासिल कर सके इसलिए उत्तरप्रदेश के सीएम अखिलेश यादव ने भी लखनऊ में कैबिनेट बैठक के बाद ऐलान किया कि सपा सरकार अयोध्या में राम के ऊपर एक इंटरनेशनल थीम पार्क बनाएगी। इस पार्क में रामायण से जुड़ी चीजों को एनिमेशन के जरिए दिखाया जाएगा और रामायण से संबंधित चित्र भी लगेंगे। सपा सरकार की इस योजना को केंद्र के पैंतरे का जवाब माना जा रहा है।

फिलहाल भगवान राम के प्रति राजनीतिक दलों का यह अनुराग बसपा प्रमुख मायावती को अखर गया है। उन्होंने भाजपा और सपा दोनों दलों पर निशाना साधते हुए धर्म को राजनीति व चुनावी लाभ से जोडक़र इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। बसपा प्रमुख ने कहा कि विधानसभा चुनाव से ठीक पहले अयोध्या में केन्द्र की भाजपा सरकार द्वारा रामायण संग्रहालय और प्रदेश की सपा सरकार द्वारा रामलीला थीम पार्क बनाने की याद आई है, परन्तु समुचित बजट प्रावधानों के अभाव में सरकार के ऐसे फैसले मात्र कागजी घोषणाएं बनकर क्या नहीं रह जायेंगी?

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com