बिहार विधानसभा में नोटबंदी, कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा

बिहार विधानसभा में नोटबंदी, कानून व्यवस्था को लेकर हंगामा

पटना | बिहार विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान मंगलवार को सत्ताधारी और विपक्ष के सदस्यों द्वारा अलग-अलग मुद्दों पर हंगामे के बीच विधानसभा की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

विधानसभा की कार्यवाही प्रारंभ होने के साथ ही राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के सदस्य वेल में आकर नोटबंदी को लेकर हंगामा करने लगे। राजद विधायकों ने सरकार से नोटबंदी के दौरान पुराने नोट बदलवाने के लिए मची अफरा-तफरी में मारे गए लोगों को 20-20 लाख रुपये का मुआवजा देने की मांग की।

विधायकों ने कहा कि नोटबंदी से बिहार के मजदूर-किसानों के साथ आम आदमी हाल-बेहाल है।

इधर, भाजपा के सदस्यों ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए राज्य में गिरती कनून-व्यवस्था को लेकर हंगामा किया।

भाजपा विधायकों ने बिहार सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर प्रहार किया। भाजपा विधायकों ने कहा कि राज्य में रोजाना अपहरण, दुष्कर्म, हत्या, पत्रकारों की हत्या और लूट जैसी वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। इसके बावजूद सरकार की ओर से कोई कारवाई नहीं की जा रही है।

इस बीच विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com