नोटबंदी असफल हुई है : केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल, नोटबंदी, नरेंद्र मोदी, संवाददाता, आम आदमी पार्टी, संसद
                          kejriwal

नई दिल्ली | दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नोटबंदी योजना, इसके घोषित उद्देश्यों की पूर्ति में असफल साबित हुई है। आम आदमी पार्टी (आप) के नेता ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “पूरी योजना असफल है और यह विफल साबित हो गई है।”

उन्होंने कहा कि मोदी के अहंकार ने पूरे राष्ट्र को संकट में डाल दिया और सिर्फ 20 दिनों में देश की अर्थव्यवस्था को एक दशक पीछे धकेल दिया है।

केजरीवाल ने कहा कि यह योजना सभी पहलुओं में विफल रही है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी की घोषणा के बाद भी काले धन का कारोबार तेजी से चल रहा है और भ्रष्टाचार के लिए नई मुद्रा का इस्तेमाल किया जा रहा था।

उन्होंने कहा, “आतंकवादियों तक नए नोट पहुंच चुके हैं, जबकि देश का आम आदमी नोटबंदी के कारण पैदा हुए गंभीर नकदी संकट में नए नोट पाने के लिए संघर्ष कर रहा है।”

केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है, जबकि एक पैसा भी काला धन बाहर नहीं निकल सका है और अब तक बैंकों में जमा हुई आठ लाख करोड़ रुपये की राशि लोगों की गाढ़ी कमाई का पैसा है।

उन्होंने कहा कि ऐसा लग रहा है कि नकली नोट छापने वाले भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से भी तेज काम कर रहे हैं।

केजरीवाल ने कहा, “नोटबंदी के बाद 500 और 1,000 रुपये के पुराने नकली नोट भी 2,000 रुपये के नए नोटों से बदल लिए गए। देश के साथ छल हुआ है। जो कोई भी इन सबके लिए जिम्मेदार है उसके खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज होना चाहिए।”

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री को एक तारीख निर्धारित कर देना चाहिए कि लोग अपना पैसा अपनी मर्जी से कब निकाल सकेंगे, क्योंकि एक जनवरी से पहले ऐसा होता नजर नहीं आ रहा।”

केजरीवाल ने कहा कि मोदी संसद का सामना करने से डर रहे हैं, क्योंकि उन्हें डर है कि संसद में बिरला और सहारा से उन्हें मिले रुपयों का मुद्दा उठ सकता है और उन्हें इस पर जवाब देना पड़ सकता है।

केजरीवाल ने कहा, “अगर वह निर्दोष हैं तो उन्हें संसद में आना चाहिए। संसद में उनकी अनुपस्थिति से संदेह पैदा हो रहा है कि उन पर लगे आरोप कहीं सच्चे तो नहीं हैं।”

 

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com