आईएनएस अरिहंत तैयार, पानी से भी परमाणु हमला करने में सक्षम हुआ भारत!

INS Arihantनई दिल्ली। भारत की सैन्य क्षमता को मजबूत करने की राह में एक बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। यह उपलब्धि है- न्यूक्लियर ट्रायड। यानी जमीन, हवा या समुद्र, कहीं से भी परमाणु मिसाइलें दागने की क्षमता।

मीडिया रिपोटर््स के अनुसार अब पानी से परमाणु हमला करने में सक्षम पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत बनकर तैयार है। इस पनडुब्बी के जरिए साढ़े तीन हजार किलोमीटर दूर तक निशाना लगाया जा सकेगा। हालांकि अमेरिका, रूस और चीन की तुलना में यह क्षमता कम है। इन देशों के पास 5000 किलोमीटर तक मार कर सकने वाली सबमरीन लॉन्चड बैलिस्टिक मिसाइलें हैं।

भारत के पास जमीन से लंबी दूरी के लक्ष्यों को निशाना बनाने वाली अग्नि मिसाइलें काफी पहले से मौजूद थीं। इसके अलावा, न्यूक्लियर वॉरहेड ढो सकने में सक्षम फाइटर एयरक्राफ्ट्स भी थे। कमी केवल समुद्र से परमाणु हमले के मोर्चे पर थी। खबरों के मुताबिक सबमरीन को इसी साल अगस्त में बेड़े में शामिल गया। दिसंबर 2014 से इसके गहन परीक्षण चल रहे थे।

अरिहंत मिलने से भारत दुनिया के उन सुपरपावर के क्लब में शामिल हो गया है जिन्होंने खुद न्यूक्लियर आम्र्ड सबमरीन बनाई है। अब तक 5 देशों अमरीका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन के पास ही न्यूक्लियर ऑम्र्ड सबमरीन थीं।

उल्लेखनीय है कि भारत ऐसी कुल 3 न्यूक्लियर पॉवर्ड सबमरीन बना रहा है। अरिहंत इनमें पहली है। भारत ने आईएनएस अरिहंत को दुनिया से छिपा रखा था। इस श्रेणी की दूसरी सबमरीन आईएनएस अरिधमन भी करीब-करीब तैयार है। इसे 2018 में नेवी को सौंपा जा सकता है।

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com