डैमेज कंट्रोल के तहत अब सपा का ऐलान, अखिलेश ही होंगे सीएम कैंडिडेट

akhilesh yadav

लखनऊ| उत्तर प्रदेश में समाजवादी परिवार में चल रहे विवाद और सियासी अटकलों के बीच उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी ने सोमवार को स्पष्ट किया विधानसभा चुनाव में अखिलेश ही पार्टी के मुख्यमंत्री चेहरा होंगे। सपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और राज्य सभा सांसद किरणमय नंदा ने सोमवार को कहा कि अखिलेश यादव ही मुख्यमंत्री का चेहरा होंगे और चुनाव बाद वह ही मुख्यमंत्री बनेंगे। उन्होंने कहा कि नेताजी (सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव) का यही संदेश है, वह यही चाहते हैं।

गौरतलब है कि सपा में मुख्यमंत्री के चेहरा को लेकर शुक्रवार को उस समय असमंजस की स्थिति पैदा हो गई, जब पार्टी मुखिया मुलायम ने एक पत्रकार वार्ता आयोजित कर कहा कि चुनाव बाद विधायक तय करेंगे कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा। मुलायम के इस बयान के सियासी गलियारे में कई मायने निकाले जाने लगे और सपा कार्यकर्ताओं में भी असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। राजधानी में यह भी चर्चा आम हो गई कि मुख्यमंत्री अखिलेश अब नई पार्टी बनाएंगे।

इन्हीं अटकलों के बीच सपा के राष्ट्रीय महामंत्री प्रो. रामगोपाल यादव ने मुलायम को एक पत्र लिखकर कहा कि अखिलेश को मुख्यमंत्री का चेहरा न बनाने से पार्टी को चुनाव में बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव भी पिछले दो दिन से बयान देने लगे कि चुनाव के बाद यदि पार्टी सत्ता में आई तो अखिलेश ही मुख्यमंत्री होंगे।

किरणमय नंदा ने कहा कि सपा मुखिया ने पिछले दिनों यह नहीं कहा था कि अखिलेश यादव पार्टी के मुख्यमंत्री चेहरा नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि दरअसल मुलायम ने पार्टी का संविधान और सिद्धांत बताया था। पार्टी उपाध्यक्ष ने कहा, “अखिलेश के नेतृत्व में प्रदेश का जितना विकास हुआ है, उतना पूरे देश में कहीं नहीं हुआ। वही हमारे मुख्यमंत्री चेहरा होंगे।”

किरणमय नंदा ने पत्रकारों को बताया कि पार्टी नौ नवंबर से मुलायम संदेश यात्रा निकालेगी। इस यात्रा के माध्यम से भी जनता को संदेश दिया जाएगा कि अखिलेश यादव ही प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री होंगे। यात्रा वाराणसी से शुरू होगी, जिसे प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com