यूपी में विभाग बंटवारे पर मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्रियों में मतभेद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रचंड बहुमत से सरकार बनने के बाद विभागों के बंटवारे को लेकर मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्रियों के बीच मतभेद सामने आए हैं। मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी और उपमुख्यमंत्रियों के बीच सोमवार को कई दौर की बैठक के बाद भी देर शाम रात तक कोई फैसला नहीं हो पाया। भाजपा सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के बीच देर शाम तक मंत्रियों के विभागों को लेकर मंथन चला, जिसमें संगठन मंत्री सुनील बंसल भी शामिल थे।

कई दौर की बातचीत के बाद भी मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्रियों के बीच विभागों के बंटवारे के साथ ही नौकरशाही में फेरबदल को लेकर आपसी सहमति नहीं बन पाई। सूत्रों के मुताबिक, योगी आदित्यनाथ और केशव मौर्य के बीच कई विभागों को लेकर सीधा टकराव दिखा।

सूत्रों के मुताबिक, इस टकराव को देखते हुए मुख्यमंत्री को दिल्ली तलब किया गया। अब आज देर शाम तक शाह के दरबार में ही मंत्रियों के विभागों का बंटवारा होगा और नौकरशाही को लेकर भी कई बड़े फैसले लिए जाने की संभावना है।

भाजपा सूत्रों के अनुसार, आदित्यनाथ योगी और केशव प्रसाद मौर्य के बीच गृह विभाग को लेकर सहमति नहीं बन पाई। कई अन्य विभागों के बंटवारे में भी मतभेद दिखा।

इधर, नई सरकार के गठन के साथ ही मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक के पद को लेकर भी दौड़ शुरू हो गई है। पुलिस महानिदेशक को लेकर जहां 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी रजनीकांत मिश्रा व प्रवीण कुमार का नाम चर्चा में है, वहीं मुख्य सचिव को लेकर 1982 बैच के आईएएस अधिकारी प्रवीर कुमार रेस में सबसे आगे बताए जा रहे हैं।

Comments

comments

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com