भारत में चीनी सामानों के बहिष्कार की अपील में फंसे क्रिसमस-न्यू इयर के ऑर्डर

भारत में चीनी सामाननई दिल्ली, चीनी सामानों के बहिष्कार की मुहिम से दिवाली सेल्स पर हो रहे असर को देख इंपोर्टर्स ने क्रिसमस और न्यू इयर के ऑर्डर फिलहाल रोक रखे हैं। कइयों ने इस साल माल कम मंगाने का फैसला किया है। दूसरी ओर, चाइनीज रॉ मटीरियल की असेंबलिंग पर निर्भर हजारों इकाइयों की चिंता बढ़ गई है कि अगर सरकार ने ऐसे आयात को हतोत्साहित करना शुरू किया तो उनका बिजनस पूरी तरह ठप हो जाएगा।

दिल्ली इलेक्ट्रिकल्स ट्रेडर्स असोसिएशन के मेंबर और भगीरथ पैलेस में चाइनीज लड़ियों के इंपोर्टर पी सी भाटिया ने बताया, ‘अभी तक सेल्स 30-35 प्रतिशत कम हुई है। दिवाली की थोक बिक्री 10 दिन पहले तक खत्म हो जाती है, लेकिन अभी आधे से ज्यादा माल पड़ा है। हमने तो क्रिसमस और न्यू इयर का चाइनीज इंपोर्ट टाल दिया है। बाकी ट्रेडर भी कम-से-कम ऑर्डर देना चाहते हैं।’

क्रिसमस कार्ड, गिफ्ट और डेकोरेटिव मटीरियल के ट्रेडर्स का कहना है कि उन्होंने अभी तक चाइनीज ऑर्डर नहीं दिया और दिवाली बाद हालात का जायजा लेने के बाद ही कोई कदम उठाएंगे। हालांकि, तब तक काफी देर हो जाएगी। पिछले साल इसी तरह की मुहिम के बावजूद सेल्स पर कोई खास असर नहीं पड़ा था। ऐसे में ज्यादातर ट्रेडर्स ने दो-तीन महीने पहले ही चाइना से माल मंगा लिया था।

loading...