पाकिस्तान : प्रधानमंत्री के खिलाफ टिप्पणी पर चैनल को नोटिस

इस्लामाबाद | पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विनियामक प्राधिकरण (पीईएमआरए) ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के एक बयान पर की गई टिप्पणियों को लेकर एआरवाय न्यूज चैनल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। डॉन ऑनलाइन की रपट के मुताबिक, नियामक ने शुक्रवार को एआरवाय न्यूज के कार्यक्रम में उपस्थित एक अतिथि शाहिद लतीफ द्वारा की गई टिप्पणियों को लेकर चैनल को नोटिस जारी किया है, जिसमें शरीफ के हालिया बयान को ईश-निंदा करार दिया गया था।

पाकिस्तान, पाकिस्तान इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, एआरवाय न्यूज चैनल,

लतीफ ने गुरुवार को प्रसारित हुए कार्यक्रम ‘द र्पिोर्ट्स’ में शरीफ के खिलाफ टिप्पणियां की थी। पीईएमआरए की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, “यह एक बहुत ही खतरनाक रुझान है। कार्यक्रम के मेजबानों ने न ही उनकी ऐसी टिप्पणियों के बीच में हस्तक्षेप किया और न ही उसे ऐसा करने से रोका, जो पीईएमआरए के नियमों के खिलाफ है।”

एआरवाय को 31 मार्च तक जवाब देने और यह बताने को कहा गया है कि ‘नफरत फैलाने वाले भाषण’ के प्रसारण के खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए। पीईएमआरए ने कहा कि दोषी पाए जाने पर नियामक ‘द र्पिोटर्स’ पर प्रतिबंध लगा सकता है, एआरवाय का लाइसेंस रद्द कर सकता है और उस पर 10 लाख रुपये का जुर्माना लगा सकता है।

पीईएमआरए ने रावलपिंडी के पास विमान दुर्घटना की एक ‘झूठी खबर’ प्रसारित करने के लिए नौ अन्य टीवी चैनलों को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जिन चैनलों को नोटिस जारी किया गया है, वे हैं – अब तक टीवी, वक्त टीवी, चैनल 5, सच टीवी, 7 न्यूज, आज टीवी, रोज टीवी, न्यूज वन और कैपिटल टीवी।

इन चैनलों को 31 मार्च तक अपना जवाब भेजने का निर्देश दिया गया है। झूठी खबर प्रसारित करने के लिए 10 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है और लाइसेंस रद्द किया जा सकता है। पीईएमआरए ने तीन दिनों तक कार्यक्रम ‘जरा हटके’ प्रसारित न करने का निर्देश न मानने के लिए डॉन को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

 

loading...
loading...