देश की सभी विमान सेवाओं ने शिवसेना सांसद गायकवाड़ पर लगाई रोक

मुंबई। एक अभूतपूर्व घटनाक्रम में एयर इंडिया और सभी निजी विमानन सेवाओं ने एयर इंडिया के अफसर से मारपीट के आरोपी शिवसेना सांसद रविंद्र गायकवाड़ के उड़ान भरने पर रोक लगा दी है। चौतरफा आलोचना और निंदा के बावजूद महाराष्ट्र के उस्मानाबाद के सांसद ने एयर इंडिया अधिकारी आर. सुकुमार को पीटने और विमान से धक्का देने की कोशिश करने के मामले में माफी मांगने से इनकार कर दिया है।

फेडरेशन ऑफ इंडियन एयरलाइंस (एफआईए) ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर बताया कि गायकवाड़ एयर इंडिया तथा अन्य निजी विमानन कंपनियों की उड़ानों से यात्रा नहीं कर पाएंगे। एफआईए के एसोसिएट निदेशक उज्जवल डे ने एक बयान में कहा, “एयर इंडिया और एफआईए की सभी सदस्य विमानन कंपनियों ने हमारी सभी उड़ानों से इस सांसद की यात्रा प्रतिबंधित करने का निर्णय लिया है।”

उन्होंने कहा, “हमारा मानना है कि ऐसी घटनाओं से कर्मचारियों के मनोबल को गिरने से बचाने तथा सार्वजनिक सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ऐसा कदम उठाने की जरूरत है, जिससे सबक लिया जा सके।” डे ने कहा, “हमारा मानना है कि हमारे कर्मचारियों में से किसी के साथ भी मारपीट हम सभी तथा देश में कानून का पालन करने वाले उन सभी लोगों पर हमला है, जो अपनी आजीविका के लिए कड़ी मेहनत करते हैं।”

इससे पहले गायकवाड़ पुणे लौटना चाह रहे थे लेकिन एयर इंडिया ने उनका टिकट रद्द कर दिया। इंडियन कमर्शियल पायलट एसोसिएशन ने चेतावनी दी है कि वह अपने सदस्यों को इस बात का निर्देश दे सकती है कि उस विमान को न उड़ाएं जिस पर गायकवाड़ सवार हों। एसोसिएशन ने कहा है कि गायकवाड़ अपनी हरकत के लिए बिना शर्त माफी मांगें।

गायकवाड़ पर रोक लगाने का यह निर्णय उनके द्वारा एयर इंडिया अफसर को ’25 बार’ चप्पल से मारने के बाद लिया गया। उन्होंने गुरुवार को इसे खुद स्वीकार किया कि उन्होंने ऐसा किया था। उनकी नाराजगी पुणे से दिल्ली की उड़ान में बिजनेस क्लास का टिकट होने के बावजूद उन्हें इकोनॉमी क्लास की सीट दिए जाने को लेकर थी।

घटना के वीडियो में गायकवाड़ को एयर इंडिया अधिकारी आर. सुकुमार को धक्का देते देखा जा रहा है, जबकि कर्मचारी उनसे बार-बार सही तरीके से व्यवहार करने की बात कह रहे हैं। यह पहली बार है जब घरेलू उड़ान के लिए किसी ‘उपद्रवी’ यात्री को प्रतिबंधित किया गया है। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय तथा कुछ निजी भारतीय विमानन कंपनियों में यह सामान्य बात है।

एयर इंडिया ने गुरुवार देर शाम यह भी कहा था कि वह ऐसे यात्रियों को उड़ान से प्रतिबंधित करने की सूची तैयार कर रहा है, जो नियमों को नहीं मानते। इसके लिए अन्य विमानन कंपनियों से भी बात की जा रही है। इससे पहले एयर इंडिया ने गायकवाड़ के खिलाफ दो अलग-अलग एफआईआर भी दर्ज कराई। इनमें से एक मामला शिफ्ट मैनेजर की पिटाई और दूसरा गोवा के लिए निर्धारित विमान की उड़ान में देरी का है।

एयर इंडिया अफसर सुकुमार का कहना है कि पहले उन्होंने अंग्रेजी में सांसद से विमान से उतरने को कहा, लेकिन सांसद ने उनसे हिन्दी में बोलने को कहा। जब उन्होंने हिन्दी में बोलना शुरू किया तो गायकवाड़ उन पर भडक़ गए और उनकी पिटाई कर दी। शिवसेना सांसद ने गुरुवार और फिर शुक्रवार को भी माफी मांगने से इनकार किया। गुरुवार को उन्होंने खुद ही शेखी बघारी कि कैसे उन्होंने सुकुमार को 25 बार चप्पल से मारा। उन्होंने जोर देकर कहा कि एयरलाइन के कर्मचारी का रवैया खराब था। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे का समर्थन प्राप्त है।

गायकवाड़ ने कहा, “मैं माफी नहीं मांगूंगा। मैं क्यों माफी मांगूं? मेरी गलती नहीं है। पहले उन्हें माफी मांगनी चाहिए, फिर (हम) देखेंगे।” यह पूछे जाने पर कि उनके खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है, फिर वह कैसे पुणे जाएंगे? सांसद ने कहा कि वह इन सबकी परवाह नहीं करते। उन्होंने कहा, “मामला किस तरह का है? मैं जाऊंगा। मेरे वकील, मेरी पार्टी और उद्धव ठाकरे साहब (शिवसेना अध्यक्ष) मामले को देखेंगे।”

गायकवाड़ ने नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू तथा लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन से इस मामले की जांच कराने की भी मांग की है। राजू ने कहा, “राजनेता कानून से ऊपर नहीं होते।” बताया जाता है कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने गायकवाड़ से स्पष्टीकरण मांगा है। निजी विमानन कंपनी विस्तारा और एयर एशिया ने कहा कि वे पूरी तरह से एयर इंडिया के साथ हैं। इस तरह का मारपीट और गाली गलौच का व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

एफआईए ने ‘कानून का पालन नहीं करने वाले यात्रियों को उड़ान से प्रतिबंधित करने’ के लिए एक सूची तैयार करने का प्रस्ताव भी दिया है। इसका उद्देश्य ‘विमानन कंपनियों के कर्मचारियों तथा अन्य ग्राहकों की सुरक्षा’ है।

loading...
loading...