राजस्थान में डिजिटल क्लास रूम्स से जुड़ेंगे अध्यापक, विद्यार्थी

डिजिटल कक्षाजयपुर| राजस्थान सरकार ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए राज्यभर में सिस्को के कनेक्टेड लर्निग सॉल्यूशन के माध्यम से डिजिटल लर्निग को प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया है। वर्चुअल डिजिटल क्लास रूम्स के माध्यम से सिस्को और साइमेट ने वर्ष भर में 50 हजार मानव घंटों के प्रशिक्षण की जिम्मेदारी ली है। सिस्को के कनेक्टेड लर्निग सॉल्यूशन के माध्यम से शिक्षा जगत के लोग राज्य शैक्षिक एवं प्रबंधन संस्थान (साइमेट) के सभी 12 केन्द्रों के साथ जुड़ सकेंगे, सहयोग कर सकेंगे और अपनी विषय वस्तु साझा कर सकेंगे।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शिक्षक दिवस के अवसर पर सभी 12 साइमेट केन्द्रों पर उपस्थित शिक्षाविदों व विद्यार्थियों के साथ सीधा संवाद करते हुए, इस उपक्रम का उद्घाटन किया।

सिस्को ने राजस्थान सरकार के साथ मिलकर डिजिटल लर्निग सॉल्यूशन रूम्स स्थापित किए हैं।

राजे ने कहा, “डिजिटल लर्निग की पहल से हमारी प्रशिक्षण क्षमता में संख्यात्मक व गुणात्मक अभिवृद्धि होगी, एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाए बिना ही विशेषज्ञों का लाभ मिल सकेगा और राज्य के नौजवानों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के स्तर में अभिवृद्धि होगी।”

मुख्यमंत्री ने कहा, “सरकार राज्य को डिजिटाइज करने के लिए सिस्को के साथ विभिन्न नए प्रयासों पर कार्य कर रही है, जिसमें जयपुर में लाइट हाउस सिटी के तहत आधुनिकतम तकनीक पर आधारित सॉल्यूशन तथा स्थानीय स्तर पर इनोवेशन को गति प्रदान करने एवं राज्य स्टार्ट-अप को वैश्विक स्तर पर प्रतियोगी बनाने के लिए जेडीए-सिस्को ग्लोबल सेन्टर ऑफ एक्सेलेंस भी शामिल है।”

सिस्को इंडिया के अध्यक्ष दिनेश मलकानी ने कहा, “स्किल इंडिया और डिजिटल राजस्थान के प्रति सिस्को की प्रतिबद्धता में सहभागी के रूप में, हम अध्यापकों को डिजिटल लर्निग के माध्यम से प्रशिक्षित कर, नवाचार के पोषण करने और परिवर्तन लाने में सहायता कर रहे हैं। शिक्षक दिवस यह याद रखने का अद्भुत अवसर है कि अगली बड़ी बात कहीं से भी और किसी से भी आ सकती है, यदि लोगों के पास अच्छा प्रशिक्षण और उपकरण हों।”

Comments

comments

AKK 'Web_Wing'

Adminstrator

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com