जीएसटी : दूध, अनाज, सब्जियां सस्‍ती, कॉस्‍मेटिक्‍स और रिवॉल्‍वर महंगे

नई दिल्ली। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद ने गुरुवार को 1,211 सामानों पर टैक्‍स की दरें निर्धारित कर दी हैं। आम आदमी के लिए खुशी की बात यह है कि जीएसटी में 81 फीसदी सामानों पर टैक्‍स की दर 18 फीसदी से कम रखी गई है। हालांकि छोटी कारों पर टैक्‍स की दर बढ़ सकती है।

दूध, अनाज, सब्जियां, कॉस्मेेटिक्स , रिवॉल्वगर, जीएसटी, कार,

जीएसटी के अंतर्गत दूध, अंडे, नमक, ताजी सब्जियां, फल, गर्भनिरोधक, जैविक खाद, मिट्टी के बरतन, नारियल, प्रसाद (धार्मिक स्थलों के जैसे मस्जिद, मंदिर, चर्च आदि) को टैक्‍स से छूट मिली है।

वहीं, जिंदा जानवर, फल जूस और मांस पर 12 फीसदी टैक्‍स लगेगा, जबकि मछली पर पांच फीसदी टैक्‍स लगेगा। मक्खन और चीज पर 12 फीसदी टैक्‍स लगेगा, जबकि गाढ़ा किए गए दूध पर 18 फीसदी टैक्‍स लगेगा।

बेवरेज श्रेणी में कॉफी (इंस्टैंट नहीं), चाय और मुंगफली, कोयला, हैंडपंप आदि पर जीएसटी के अंतर्गत पांच फीसदी टैक्‍स वसूला जाएगा।

हालांकि गुड़ को जीएसटी से छूट दी गई है, लेकिन चीनी और बीट शूगर को पांच फीसदी कर वाली श्रेणी में रखा गया है। बायो गैस संयंत्र, पवनचक्की, केरोसिन लालटेन पर पांच फीसदी कर लगाया जाएगा।

मोबाइल फोन्स, फाउंटेन पेन इंक, टूथ पॉउडर, अगरबत्ती, फीडिंग बोतल, ब्रेल पेपर, बच्चों की कलरिंग किताबें, छाता, पेंसिल शार्पनर, ट्रैक्टर, साइकिल, कांटैक्स लेंस, चश्मों के लेंस, बरतन, खेल के सामान, मछली पकड़ने का डंडा, कंघी, पेंसिल और हैंड पेंटिंग पर 12 फीसदी कर लगेगा।

बिंदी, चूड़ी, शीशे की चूड़ियां, हैंडलूम, सुनने की मशीन, हाथ से बने संगीत उपकरण को जीएसटी के अंतर्गत छूट दी गई है। जीएसटी में कुल सात फीसदी सामानों को कर से छूट दी गई है।

जिन चीजों पर 18 फीसदी कर लगाया गया है, उनमें हेलमेट, एलपीजी स्टोव, परमाणु रिएक्टर, घड़ियां, सैन्य हथियार, इलेक्ट्रॉनिक खिलौने और प्लास्टिक के बटन शामिल हैं।

जिन सामानों पर टैक्‍स की दर सबसे ज्यादा 28 फीसदी रखी गई है। इनमें बोतलबंद पेय, परफ्यूम, ऑफ्टर शेव लोशन, डियोड्रेंट, फर के कपड़े, रेजर ब्लेड, कार, रिवाल्वर और पिस्तौल शामिल हैं।

वहीं, छोटी कारों पर एक से तीन फीसदी सेस लगाया जाएगा। 350 सीसी से अधिक के इंजन वाली मोटरसाइकिल, निजी विमान, नौका, मध्यम श्रेणी के कारों पर 15 फीसदी सेस लगाया जाएगा।

 

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.