गैंगरेप-एसिड अटैक पीड़िता के सामने तीन महिला कॉन्सेबल ने ली सेल्फी, सस्पेंड की गईं

लखनऊ। मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कथित गैंगरेप और तेजाब हमले की पीडि़ता के सामने सेल्फी लेने वाली तीनों महिला कॉन्स्टेबल पर गाज गिर गई है। महिला कॉन्स्टेबलों के सेल्फी लेने का प्रकरण सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद तीनों महिला कांस्टेबल को शुक्रवार देर रात निलंबित कर दिया गया। पीडि़ता पिछले आठ साल से अदालती जंग लड़ रही रही है।

बता दें कि राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज के पास चलती ट्रेन में गुरुवार को एक दुष्कर्म पीडि़ता को तेजाब पिलाकर जान से मारने का प्रयास किया गया। इसको सीएम आदित्यनाथ योगी ने भी गंभीरता से लिया और वह शुक्रवार को पीडि़ता को देखने मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रॉमा सेंटर गए थे। योगी ने पीडि़ता को मुफ्त चिकित्सा प्रदान करने के साथ ही आर्थिक सहायता के रूप में एक लाख रुपया का चेक भी दिया। साथ ही इस मामले की रिपोर्ट उन्होंने एडीजी (कानून-व्यवस्था) और लखनऊ के एसएसपी से मांगी है। योगी ने प्रतिसार निरीक्षक के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

मेडिकल कालेज में भर्ती पीडि़ता की सिक्योरिटी के लिए तीन महिला कॉन्स्टेबल तैनात की गई थी। उसके बेड के पास बैठी इन तीन महिला कॉन्स्टेबल के सेल्फी लेने की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। जिसके बाद घटना को संज्ञान लेते हुए पुलिस महानिरीक्षक (लखनऊ जोन) ए सतीश गणेश ने कहा कि इन असंवेदनशील पुलिसकर्मियों पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

loading...
loading...