खुशखबरी: आईआईटी में लड़कियों के लिए अब 20 प्रतिशत ज्यादा कोटा

आईआईटी में जेंडर गैप को कम करने की कवायद

नई दिल्ली। कक्षा में छात्र और छात्राओं की संख्या बैलेंस करने के लिए आईआईटी (इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी) महत्वपूर्ण कदम उठाने जा रहा है। आईआईटी में छात्राओं के लिए सीट का कोटा 20 फीसदी बढ़ाया जा रहा है। यह निर्णय शनिवार को हुए ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड की बैठक में लिया गया। हालांकि छात्रों की सीटों में कोई कटौती नहीं की गर्ई है।

आईआईटी में जेंडर गैप, आईआईटी में छात्राओं के लिए सीट का कोटा, ज्वाइंट एडमिशन बोर्ड की बैठक, एकेडमिक सेशन 2018 को कम करने की कवायद
girls in iit exam

आईआईटी में जेंडर गैप कम करने के लिए सीटें बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान कर दी गई है। इस पर अमल अगले एकेडमिक सेशन 2018 से होगा। यानी अब 2018 से शुरू होने वाले शैक्षणिक सत्र में अधिक लड़कियों को दाखिला मिलेगा। आईआईटी के नामांकन बोर्ड ने लड़कियों की संख्या बढ़ाने के लिए संस्थान में 20 प्रतिशत सीटों का एक सुपर न्यूमेरी नाम का नया कोटा बना दिया गया है।

यह भी पढ़ें-आईआईटी खडग़पुर में होगी एमबीबीएस की पढ़ाई

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में दाखिला लेने वाली लड़कियों की संख्या में कमी को लेकर परेशान ज्वॉइंट एडमिशन बोर्ड ने पिछले साल एक पैनल का गठन किया था। टिमोथी गोंजाल्विस की अध्यक्षता में इस समिति को संस्थाओं की स्थिति को बेहतर बनाने का रास्ता सुझाने का दायित्व सौंपा गया था। पैनल ने इस वर्ष की शुरुआत में आईआईटी में कुल सीटों में लड़कियों के लिए 20 प्रतिशत अतिरिक्त सीट सृजित करने का सुझाव दिया था।

अधिकारी ने बताया कि जेएबी की बैठक में सुझाव पर विचार किया गया जिसने कोटा को मंजूरी प्रदान कर दी। अतिरिक्त सीटों के प्रतिशत के बारे में हर साल फैसला किया जायेगा। किसी छात्रा की खाली सीट को महिला उम्मीदवार की सीट से ही भरा जा सकता है। 20 प्रतिशत अतिरिक्त कोटा दिए जाने से लडक़ों की सीटों में कोई कटौती नहीं की जाएगी।

 

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *